देशभर से आए परीक्षार्थी, अब गांव-गांव देंगे धर्म की सीख

देशभर से आए परीक्षार्थी, अब गांव-गांव देंगे धर्म की सीख

Dinesh O.Bhardwaj | Updated: 04 Jun 2019, 09:00:01 PM (IST) Surat, Surat, Gujarat, India

पं. टोडरमल स्मारक ट्रस्ट संचालित 18 दिवसीय 53वें वीतराग विज्ञान शिक्षण-प्रशिक्षण शिविर

सूरत. शहर में मजूरागेट के निकट दयालजी आश्रम में पं. टोडरमल स्मारक ट्रस्ट संचालित 18 दिवसीय 53वें वीतराग विज्ञान शिक्षण-प्रशिक्षण शिविर का समापन बुधवार को होगा। इससे पूर्व मंगलवार को बालबोध व वीतराग विज्ञान प्रशिक्षण की परीक्षा सम्पन्न की गई। परीक्षा में देश के छह प्रदेश के साढ़े तीन सौ परीथार्थियों ने हिन्दी, गुजराती, अंग्रेजी व मराठी चार भाषा में परीक्षा दी।
ज्ञान महोत्सव आयोजक परिवार के संजय दीवान ने बताया कि 53वें वीतराग विज्ञान शिक्षण-प्रशिक्षण शिविर में सभी प्रशिक्षणार्थियों ने जैन धर्म की शिक्षा-दीक्षा के बारे में भली-भांति से प्रशिक्षण हासिल किया है। 18 दिवसीय शिविर के दौरान देशभर के साढ़े तीन सौ प्रशिक्षणार्थियों को आगरा के पं. गणतंत्र शास्त्री के संयोजन में 42 अध्यापकों ने प्रशिक्षित किया। मंगलवार को परीक्षा सम्पन्न होने के बाद डॉ. हुकमीचंद भारिल्ल ने सभी को कार्यक्षेत्र में जाकर सफलतापूर्वक अध्यापन कार्य की शुभकामना दी। यहां से प्रशिक्षित अध्यापक अपने-अपने गांव में जैन धर्म की बाल पाठशाला का संचालन करेंगे और बच्चों को जैन धर्म की रीत-नीत पढ़ाएंगे। परीक्षा के समापन मौके पर सूरत महानगर के सभी जैन मंदिरों के अध्यक्ष, मंत्री व अन्य पदाधिकारी मौजूद थे। शिविर के समापन मौके पर बुधवार सुबह नौ बजे से दीक्षांत समारोह का आयोजन किया जाएगा।

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned