मरीज से बलात्कार का मामला : डॉ. प्रफूल्ल दोषी दो दिन के अतिरिक्त रिमांड पर

मरीज से बलात्कार का मामला : डॉ. प्रफूल्ल दोषी दो दिन के अतिरिक्त रिमांड पर

Sandip Kumar N Pateel | Publish: Sep, 10 2018 09:55:03 PM (IST) | Updated: Sep, 10 2018 09:55:04 PM (IST) Surat, Gujarat, India

12 सितम्बर तक पुलिस हिरासत में भेज दिया।



सूरत. चैकअप के दौरान विवाहिता से बलात्कार करने के आरोप में गिरफ्तार गायनेकोलॉजिस्ट डॉ. प्रफूल्ल दोषी का एक दिन का अतिरिक्त रिमांड खत्म होने पर पुलिस ने सोमवार को उसे कोर्ट में पेश कर तीन दिन के अतिरिक्त रिमांड पर सौंपने की मांग की। कोर्ट ने दो दिन का अतिरिक्त रिमांड मंजूर करते हुए 12 सितम्बर तक अभियुक्त को पुलिस हिरासत में भेजने का आदेश दिया।

 


नानपुरा क्षेत्र में मी एण्ड मम्मी अस्पताल के संचालक डॉ. प्रफूल्ल दोषी पर बलात्कार का आरोप लगाते हुए कतारगाम क्षेत्र की विवाहिता ने अठवा थाने में शिकायत दर्ज करवाई थी। आरोप के मुताबिक निसंतान होने के कारण विवाहिता डॉ. प्रफूल्ल दोषी के यहां उपचार करवा रही थी। बुधवार को वह चैकअप के लिए पति के साथ अस्पताल गई थी। तभी चैकअप के दौरान डॉ.दोषी ने जान से मारने की धमकी देकर विवाहिता से बलात्कार किया। मामला दर्ज होने के बाद से आरोपित डॉक्टर फरार हो गया था।

 

शनिवार रात पुलिस ने उसे गिरफ्तार कर लिया। रविवार रात पुलिस ने डॉ.दोषी को इंचार्ज कोर्ट के समक्ष पेश कर पांच दिन का रिमांड मंजूर करने की मांग की थी, लेकिन इंचार्ज कोर्ट ने एक दिन का रिमांड मंजूर किया था। सोमवार को रिमांड की अवधि पूरी होने पर पुलिस ने उसे सेंकड ज्युडिशियल मजिस्ट्रेट फस्र्ट क्लास की कोर्ट में पेश किया और तीन दिन के अतिरिक्त रिमांड मंजूर करने की मांग की। लोकअभियोजक बबीता बुधानी दलीलें पेश करते हुए कहा कि एक दिन की रमांड अवधि का दिन अभियुक्त की मेडिकल जांच में ही पूरा हो गया। मामला दर्ज होने के बाद अभियुक्त मुंबई और नवसारी में छीपा हुआ था। ऐसे में वह किसके यहां छीपा था, उसे किसने मदद की इसकी जांच के लिए अभियुक्त पुलिस हिरासत को जरूरी बताया। वहीं बचाव पक्ष के अधिवक्ता कल्पेश देसाई ने दलीलें पेश की कि पुलिस की ओर से रिमांड के लिए जो मुद्दे रखे गए है, वह पुराने है और इन मुद्दों के आधार पर कोर्ट एक दिन का रिमांड मंजूर कर चूकी है। उन्होंने रिमांड याचिका नामंजूर करने की मांग की। दोनों पक्षों की दलीलें सुनने के बाद कोर्ट ने दो दिन का अतिरिक्त रिमांड मंजूर करते हुए 12 सितम्बर तक पुलिस हिरासत में भेज दिया।


-

 

कोर्ट परिसर में डॉ.दोषी के खिलाफ लगे नारे


अठवा पुलिस की ओर से सोमवार शाम अभियुक्त डॉ.दोषी को कोर्ट लाए जाना था, इससे पहले पीडि़ता के समाज को लोग कोर्ट पहुंच गए थे। भीड़ इकठ्ठी होने की जानकारी मिलने पर कोर्ट में पुलिस बंदोबदस्त तैनात कर दिया गया। अभियुक्त को भी पुलिस वैन के बजाए पुलिस निरीक्षक की वैन में लाया गया। हालांकि दो दिन का अतिरिक्त रिमांड मंजूर होने के बाद पुलिस जब डॉ.दोषी को लेकर थाने लौट रही थी, तभी कोर्ट संकुल में भी पीडि़ता के समाज की महिलाएं और पुरूषों ने डॉ. प्रफूल्ल दोषी के खिलाफ नारे लगाए।

Ad Block is Banned