कथीरिया को न्यायिक हिरासत में भेजा

राजद्रोह मामले में गिरफ्तार पास समन्वयक अल्पेश कथीरिया को मंगलवार शाम क्राइम ब्रांच पुलिस ने कोर्ट में पेश किया। पुलिस की ओर से रिमांड की मांग नहीं की गई। कोर्ट ने उसे न्यायिक हिरासत में भेजने का आदेश दिया।

By: मुकेश शर्मा

Updated: 18 Dec 2018, 10:52 PM IST

सूरत।राजद्रोह मामले में गिरफ्तार पास समन्वयक अल्पेश कथीरिया को मंगलवार शाम क्राइम ब्रांच पुलिस ने कोर्ट में पेश किया। पुलिस की ओर से रिमांड की मांग नहीं की गई। कोर्ट ने उसे न्यायिक हिरासत में भेजने का आदेश दिया।

अमरोली थाने में दर्ज तीन साल पुराने राजद्रोह के मामले में सोमवार को क्राइम ब्रांच पुलिस ने अल्पेश को साबरमती जेल से ट्रांसफर वारंट से गिरफ्तार किया था। देर रात पुलिस उसे लेकर सूरत पहुंची। मंगलवार शाम उसे जेएमफएसी कोर्ट के समक्ष पेश किया गया। पुलिस की ओर से रिमांड की मांग नहीं करने पर कोर्ट ने अभियुक्त को न्यायिक हिरासत में भेज दिया।

गौरतलब है कि पाटीदार आरक्षण आंदोलन के दौरान वर्ष 2015 में पुलिस के खिलाफ भडक़ाऊ बयान देने को लेकर अमरोली थाने में राजद्रोह का मामला दर्ज करते हुए क्राइम ब्रांच पुलिस ने हार्दिक पटेल को गिरफ्तार किया था। इसके बाद विपुल देसाई और चिराग देसाई नाम के युवकों को भी गिरफ्तार किया गया।
अब तीन साल बाद अल्पेश कथीरिया की इस मामले में गिरफ्तारी की गई है।

कार्यकर्ताओं ने किया गुलाब से स्वागत

अल्पेश कथीरिया की सूरत कोर्ट में पेशी को लेकर मंगलवार शाम बड़ी संख्या में पास कार्यकर्ता कोर्ट पहुंचे। कोर्ट में पेशी के बाद पुलिस जब उसे लाजपोर जेल ले जाने लगी तो कार्यकर्ताओं ने कोर्ट के बाहर अल्पेश पर गुलाब के फूल फेंके और पुलिसकर्मियों को गुलाब के फूल दिए।

नया ठिकाना होगा लाजपोर जेल

अल्पेश कथीरिया का नया ठिकाना लाजपोर जेल हो सकता है। अहमदाबाद में दर्ज राजद्रोह के मामले में वह साबरमती जेल में कैद था। मंगलवार को इस मामले में उच्च न्यायालय ने उसकी जमानत याचिका मंजूर कर ली। यदि अहमदाबाद पुलिस अन्य किसी मामले में उसकी गिरफ्तारी नहीं करती है तो उसे लाजपोर जेल में रखा जाएगा।

१५ लाख की धोखाधड़ी

एम्ब्रोयडरी जॉब वर्कर के साथ १५.१९ लाख रुपए की धोखाधड़ी के आरोप में सलाबतपुरा पुलिस ने एसटीएम मार्केट की एक पार्टी के तीन जनों के खिलाफ मामला दर्ज किया है। राजस्थान के सिरोही जिले के माल गांंव निवासी अशोक पुरोहित, मोटा गांव निवासी जीतेन्द्र पुरोहित और छगन पुरोहित ने कतारगाम वेडरोड की उदयनगर सोसायटी निवासी रमेश वावडिया के साथ धोखाधड़ी की।

उन्होंने रिंग रोड के सूरत टैक्सटाइल मार्केट में अवध क्रिएशन के नाम से कपड़े का कारोबार शुरू कर रमेश से १५ लाख 19 हजार 321 रुपए का एम्ब्रोयडरी जॉब वर्क करवाया, लेकिन उसका भुगतान किए बिना तीनों फरार
हो गए। रमेश ने सलाबतपुरा थाने में प्राथमिकी दर्ज करवाई।

मुकेश शर्मा Reporting
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned