Circumstances: ‘देस’ वापसी का दौर अब भी जारी

प्रवासी राजस्थानियों के ‘देस’ लौटने का सिलसिला निजी बसों से जारी है। रोजाना यहां से प्रवासी राजस्थानियों को लेकर 25-30 बसें मारवाड़, शेखावाटी, मेवाड़ अंचल के लिए रवाना होती है

By: Dinesh Bhardwaj

Published: 05 May 2020, 09:07 PM IST

सूरत. औद्योगिक नगरी सूरत से जहां ट्रेनों के माध्यम से उत्तरप्रदेश, बिहार, उड़ीसा, झारखंड के प्रवासी श्रमिकों को भेजा जा रहा है, वहीं प्रवासी राजस्थानियों के ‘देस’ लौटने का सिलसिला निजी बसों से जारी है। रोजाना यहां से प्रवासी राजस्थानियों को लेकर 25-30 बसें मारवाड़, शेखावाटी, मेवाड़ अंचल के लिए रवाना होती है।
‘देस’ वापसी का दौर शुरू होने से पहले कई मुश्किलें शहर में बसे प्रवासी राजस्थानियों को झेलनी पड़ी और इस दौरान उन्होंने कई बार बदले हुए फॉर्म भरे, मंजूरी मिल भी गई तो कोसंबा के निकट उनकी यात्रा भी रोकी गई, लेकिन इन सबको झेलते हुए भी वे राजस्थान यात्रा के प्रति मजबूत मनोबल से डटे रहे। गत तीन-चार दिन से रोजाना राजस्थान के शेखावाटी अंचल के रामगढ़-फतेहपुर, चुरू, लक्ष्मणगढ़, बिसाऊ, ठेलासर, सरदारशहर के लिए निजी बसों में सवार होकर प्रवासी राजस्थानी जा रहे हैं। इस संबंध में राजस्थान मुस्लिम समाज के प्रमुख बबलू मलिक ने बताया कि अभी तक शेखावाटी अंचल के लिए शहर के भाठेना व उधना क्षेत्र से 20 से ज्यादा बसें जा चुकी है और इतनी ही बसों की मंजूरी मांगी गई है। मौजूदा परिस्थिति में सबको गांव लौटने की आवश्यकता नहीं है, जिनके पास व्यापार-धंधे एक-डेढ़ माह में शुरू होने की गुंजाइश है उन्हें रुकना चाहिए, ताकि शहर की अर्थव्यवस्था भी उनके योगदान से पटरी पर लौट सकें।
उधर, सहारा दरवाजा के पास कुबेर टैक्सटाइल मार्केट के सामने बाड़े में से भी राजस्थान के लिए निजी बसों के जाने का सिलसिला जारी है। मारवाड़ अंचल के जालोर-सिरोही जिले में कई प्रवासियों की यात्रा व्यवस्था कर चुके युवा दिनेश पुरोहित ने बताया कि यहां से जाने की ईच्छा किसी की नहीं है मगर हालात उन्हें मजबूर कर रहे हैं। अभी तक सिरोही-जालोर जिले के लिए 3 दर्जन से ज्यादा बसें जा चुकी है। वहीं, मंगलवार को प्रवासी राजस्थानियों को लेकर सरदारशहर के लिए बसें रवाना की गई और इस दौरान सांसद सीआर पाटिल, भाजपा महानगर इकाई महामंत्री किशोर बिंदल, सरदारशहर परिषद अध्यक्ष मनोज लोहिया, संजय बोथरा, देवेंद्र बोकाडिय़ा आदि मौजूद थे।

Show More
Dinesh Bhardwaj Reporting
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned