स्वच्छता सर्वे टीम ने किया सूरत स्टेशन का निरीक्षण

स्वच्छता सर्वे टीम ने किया सूरत स्टेशन का निरीक्षण
स्वच्छता सर्वे टीम ने किया सूरत स्टेशन का निरीक्षण

Sanjeev Kumar Singh | Updated: 15 Sep 2019, 09:21:00 PM (IST) Surat, Surat, Gujarat, India

प्लेटफॉर्म, स्टॉल और सराउंडिंग एरिया में व्यवस्थाएं देखीं, यात्रियों से फीडबैक लिया

सूरत.

क्वॉलिटी काउंसिल ऑफ इंडिया की स्वच्छता सर्वे टीम शुक्रवार को सूरत स्टेशन पहुंची। दो सदस्यों की टीम ने स्टेशन के प्लेटफॉर्म, स्टॉल और सराउंडिंग एरिया की व्यवस्थाओं का निरीक्षण किया। शनिवार को टीम ने यात्रियों से फीडबैक लिए। देश के सभी स्टेशनों पर सर्वे पूरा होने पर रैंकिंग जारी की जाएगी।

कराची से जैश आंतकियों का खत, 8 अक्टूबर तक रेलवे स्टेशनों और मंदिरों को उड़ाने की दी धमकी

क्वॉलिटी काउंसिल ऑफ इंडिया के स्वच्छता सर्वे को लेकर सूरत स्टेशन पर एक महीने से तैयारियां चल रही थीं। क्वॉलिटी काउंसिल ऑफ इंडिया द्वारा नियुक्त दो सदस्य राजेश तिवारी और पवन परीख शुक्रवार सुबह सूरत पहुंचे। उन्होंने स्टेशन के वरिष्ठ अधिकारियों से मुलाकात के बाद स्वच्छता सर्वे अभियान शुरू किया। उन्होंने पार्किंग क्षेत्र में खड़े वाहनों तथा साफ-सफाई का अवलोकन किया। टीम ने ग्राउंड फ्लोर पर करंट टिकट खिडक़ी के आस-पास तथा आने-जाने वाले दोनों मेन गेट का निरीक्षण किया।

IND vs SA : पहला टी-20 मैच बारिश में बहा, बिना एक भी गेंद फेंके हुआ रद्द

प्लेटफॉर्म तथा स्टेशन परिसर के सभी पे एंड यूज का भी निरीक्षण किया गया। सूत्रों ने बताया कि सूरत स्टेशन की रैंकिंग में सुधार के लिए स्थानीय प्रशासन की ओर से काफी पसीना बहाया गया है। स्टेशन पर पहले पार्किंग क्षेत्र में कचरा फेंकने के लिए कोई डस्टबीन नहीं थी, लेकिन शुक्रवार को सभी जगह हरे और काले रंग की डस्टबीन दिखाई दीं। यह डस्टबीन बिहार-झारखंड समाज ट्रस्ट ने सूरत स्टेशन को डोनेट की थीं। स्थानीय अधिकारियों ने बताया कि शनिवार को भी सूरत स्टेशन पर स्वच्छता सर्वे जारी रहा। शनिवार को मुख्य रूप से यात्रियों के फीडबैक लेने का कार्य किया गया। क्वॉलिटी काउंसिल ऑफ इंडिया ने चालीस फीसदी अंक यात्रियों के फीडबैक तथा 60 फीसदी अंक स्वच्छता को लेकर तय किए हैं।

बिलियर्ड्स : पंकज आडवाणी ने 22वीं बार जीती विश्व चैम्पियनशिप

उल्लेखनीय है कि 2016 के स्वच्छता सर्वे में सूरत स्टेशन प्रथम रहा था, लेकिन 201७ में यह 27वें स्थान पर लुढक़ गया था। पिछले साल यह 24वें स्थान पर रहा था। इस बार रैंकिंग में सुधार के लिए अधिकारियों द्वारा प्रयास किए जा रहे हैं। राजस्थान पत्रिका ने 22 और 27 अगस्त को रिपोर्ट प्रकाशित कर स्टेशन की सफाई व्यवस्था की तस्वीर पेश की थी। कुछ दिन पहले ही सफाई व्यवस्था में गड़बड़ी को लेकर सूरत के एक अधिकारी का तबादला किया गया तथा एक को निलम्बित किया गया था।


नो प्लास्टिक अभियान शुरू

‘प्रकृति से ही हमारा जीवन है, आइए प्रकृति को भी जीवन दें’ के स्लोगन के साथ शुक्रवार को सूरत स्टेशन पर नो प्लास्टिक और सिंगल प्लास्टिक यूज को लेकर अभियान शुरू किया गया। यात्रियों को जागरूक करने के लिए स्काउट एंड गाइड के बच्चे नो प्लास्टिक और सिंगल प्लास्टिक यूज प्रतिबंध जैसे स्लोगनों के साथ बैनरों, पोस्टरों तथा स्टीकरों के साथ प्लेटफॉर्म पर घूमे।

पाकिस्तान ने बॉर्डर पर बनाए युद्ध जैसे हालात, 2019 में अभी तक 2050 बार तोड़ चुका है सीजफायर

रेल मंत्रालय ने सभी रेल इकाइयों को दो अक्टूबर से सिंगल यूज प्लास्टिक को प्रतिबंधित करने की जानकारी यात्रियों तक पहुंचाने के निर्देश दिए हैं। सूरत स्टेशन को प्लास्टिक फ्री बनाने के संकल्प के साथ स्वच्छता ही सेवा अभियान शुरू किया गया। इस मौके पर क्वॉलिटी काउंसिल के सदस्य राजेश तिवारी, सूरत स्टेशन डायरेक्टर सी.आर. गरूड़ा, स्टेशन मैनेजर सी.एम. खटीक, सीएमआइ आर.आर. शर्मा, प्रभाकर इंटरप्राइजेज के रोशन सिंह समेत अन्य लोग मौजूद थे।

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned