गुजरात एक और आंदोलन की राह पर

गुजरात एक और आंदोलन की राह पर

Vineet Sharma | Publish: Sep, 02 2018 08:37:16 PM (IST) | Updated: Sep, 02 2018 08:39:00 PM (IST) Surat, Gujarat, India

किसानों का कर्ज माफ न करने पर कांग्रेस करेगी आंदोलन

वापी. पारडी किसान पंचायत की ओर से पारडी के धगणमाल घासिया मैदान में आयोजित आदिवासी रैली में कांग्रेस ने किसानों का कर्ज माफ नहीं होने पर आंदोलन की चेतावनी दी है। किसान रैली के 65वीं वर्षगंाठ पर कांग्रेस ने भाजपा सरकार के खिलाफ मोर्चा खोला। गुजरात विधानसभा में विरोध पक्ष के नेता परेश धानाणी ने कहा कि वर्षों पहले अहिंसक मार्ग से किसानों को जमीन का मालिक बनाने का काम ईश्वर भाई देसाई और उत्तम भाई पटेल ने किया था।

पारडी किसान पंचायत हर साल एक सितंबर को खेड सत्याग्रह की याद में रैली का आयोजन करती है। रैली में पहुंचे कपराडा विधायक जीतू चौधरी ने किसानों को संबोधित खेड सत्याग्रह में महत्वपूर्ण भूमिका निभाने वाले स्वर्गीय ईश्वर देसाई और स्वर्गीय उत्तम भाई पटेल को याद किया। मुख्य अतिथि गुजरात विधानसभा में विरोध पक्ष के नेता परेश धानाणी ने कहा कि वर्षों पहले अहिंसक मार्ग से किसानों को जमीन का मालिक बनाने का काम ईश्वर भाई देसाई और उत्तम भाई पटेल ने किया था।

उन्होंने कहा कि जो जोते उसकी जमीन का नारा इसी घासिया मैदान से निकला था। इंदिरा गांधी ने जल जंगल और जमीन का पहला अधिकारी आदिवासियों को दिया था। कांग्रेस ने किसानों को ताम्रपत्र पर खेत का अधिकार दिया था, लेकिन भाजपा सरकार में सेटेलाइट से किए गए सर्वे में किसानों के खेत का नक्शा और सरहद ही बदल गई है। उन्होंने यह काम करने वाली कंपनी के खिलाफ कार्रवाई कर पूरा खर्च वसूलने और इस प्रक्रिया को रद्द करने की मांग की। धानाणी ने पंजाब और कर्नाटक की तर्ज पर किसानों का कर्ज माफ न होने पर आंदोलन की चेतावनी भी दी।

रैली में आए वक्ताओं ने गुजरात सराकर के निजी एजेन्सी से माप कराने का विरोध करते हुए किसानों व आदिवासियों की समस्याओं को दूर करने समेत कई मांग की। कार्यक्रम में कपराडा विधायक जीतू चौधरी, वांसदा विधायक अनंत पटेल, डांग विधायक मंगल गावित, प्रदेश मंत्री मिलन देसाई, समेत कई काफी संख्या में आदिवासी व किसान उपस्थित थे।

Ad Block is Banned