भावों में बदलाव से ठेकेदारों का इनकार

आज टीएससी में होगा मंजूरी या रिटेंडर का फैसला

By: विनीत शर्मा

Published: 24 Jul 2018, 09:02 PM IST

सूरत. आयुक्त की सलाह को दरकिनार करते हुए दो ठेकेदार फर्मों ने टेंडर प्रस्तावों में भरे दामों को कम करने से मना कर दिया। टेंडर स्क्रूटनी कमेटी (टीएससी) की बुधवार को होने वाली बैठक में इन प्रस्तावों के भविष्य का फैसला होगा।

टीएससी की पिछली बैठक में मनपा आयुक्त एम. थेन्नारसन ने कुछ प्रस्तावों को मुल्तवी रखते हुए संबंधित अधिकारियों को ठेकेदार फर्मों से बात करने की हिदायत दी थी। एक प्रस्ताव में दाम घटाने थे और अन्य तीन प्रस्तावों में दाम बढ़ाए जाने थे। इनमें वराछा में श्रीनाथजी फ्लाइओवर ब्रिज के नीचे ओपन स्पेस डवलप करने का प्रस्ताव शामिल था। ठेकेदार फर्म ने इसके लिए 1.5 करोड़ रुपए का प्रस्ताव दिया था। आयुक्त ने रकम ज्यादा मानते हुए अधिकारियों को ठेकेदार से मिलकर भाव कम कराने के लिए कहा था। ठेकेदार ने भाव कम करने से साफ इनकार कर दिया।

एक अन्य मामले में अंबेडकर ब्रिज, सोसियो सर्किल और उमरवाडा के सागर मार्केट के समीप ओपन प्लॉट में पार्किंग के प्रस्तावों को भी ठेकेदारों से बातचीत के लिए मुल्तवी रखा गया था। ओपन प्लॉट पर पार्किंग के लिए पहली बार आए टेंडर पर ठेकेदार फर्म ने 42.48 लाख रुपए का प्रस्ताव रखा था। यहां भी ठेकेदार फर्म ने आयुक्त की सलाह नहीं मानी और भाव बढ़ाने से मना कर दिया। सोसियो सर्किल के लिए पहली बार पे एण्ड पार्क का प्रस्ताव मंगाया गया था। यहां ठेकेदार ने 5.51 लाख से बढ़ाकर 6.51 लाख रुपए का संशोधित प्रस्ताव दिया है। अंबेडकर ब्रिज के नीचे पार्किंग के लिए 1.81 करोड़ से बढ़ाकर 1.84 करोड़ रुपए का संशोधित प्रस्ताव आया है। टीएससी की बुधवार को होने वाली बैठक में आयुक्त की सलाह दरकिनार करने वाले ठेकेदारों पर निर्णय खास रहेगा। देखना होगा कि मनपा प्रशासन इन प्रस्तावों को ज्यों का त्यों स्वीकार कर लेता है या रिटेंडरिंग का फैसला करता है।

बैठक के एजेंडे में कतारगाम में 1.02 करोड़ रुपए की लागत से पार्टी प्लॉट डवलप करने का काम भी शामिल है। इसमें लॉन डवलप करने के साथ ही किचन, स्टेज, टॉयलेट ब्लॉक, चेंजिंग रूम समेत अन्य काम कराए जाएंगे। शहरभर में पानी के मीटर के लिए वार्षिक दर तय करने के प्रस्ताव पर भी बैठक में निर्णय किया जाएगा।

हाइटेक होंगी पार्किंग

मनपा प्रशासन ने स्मार्ट सिटी प्रोजेक्ट के तहत पार्किंग एरिया को मॉल्स की तर्ज पर विकसित करने का निर्णय किया है। इसके लिए चयनित जगहों पर इंटेलिजेंट पार्किंग मैनेजमेंट सिस्टम लगाया जाना है। शुरुआत में नौ मल्टीलेवल और उमरवाडा क्षेत्र में दो ओपन स्पेस का चयन किया गया है। 4.73 करोड़ रुपए के खर्च से इन पार्किंग स्पेस में सीसीटीवी कैमरा, टोकन काउंटर, बैरियर आदि लगाए जाएंगे। बुधवार को होने वाली बैठक में इस प्रस्ताव पर भी निर्णय किया जाएगा।

विनीत शर्मा Reporting
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned