कोरोना- भारी पड़ सकती है जरा सी लापरवाही

लिंबायत के साथ ही इधर भी देना होगा ध्यान, सेंट्रल जोन और वराछा ए में भी बढ़ रहा मरीजों का आंकड़ा

By: विनीत शर्मा

Published: 10 May 2020, 02:02 PM IST

सूरत. शहर के स्लम इलाकों में कोरोना संक्रमण को पांव पसारने की पूरी आजादी मिल रही है। यहां घनी आबादी के बीच लोगों का सोशल डिस्टेंसिंग से भी परहेज बरतना अब भारी पडऩे लगा है। लिंबायत समेत शहर के पांच जोन में कोरोना संक्रमण का असर दिख रहा है, लेकिन सेंट्रल और वराछा ए जोन में आगे निकलने की होड़ मची हुई है। मनपा प्रशासन को समय रहते लिंबायत की तरह इन दोनों जोन के लिए भी एक ठोस नीति बनानी होगी।

शहर में कोरोना के प्रसार को लेकर जो आंकड़े सामने हैं, उसके मुताबिक सूरत के हॉट स्पॉट्स में लिंबायत जोन और खासकर इस जोन का मान दरवाजा का इलाका बीते लंबे अरसे से हॉटेस्ट स्पॉट बना हुआ है। अकेले लिंबायत जोन में कोरोना संक्रमितों का आंकड़ा कुल शहर में मिले मरीजों का 40 फीसदी है। यहां अलग-अलग जगहों से लगातार मिल रहे नए संक्रमितों को देखते हुए मनपा प्रशासन ने लिंबायत को लेकर कई नए प्रयोग किए हैं। हाल में लिंबायत को आइलैंड स्ट्रेटेजी का हिस्सा बनाने और एपीएक्स पैटर्न पर लोगों की स्वास्थ्य जांच के फैसले को मास्टर स्ट्रोक माना जा रहा है।

शहर में संक्रमितों की संख्या पर गौर करें तो लिंबायत जोन के बाद शहर के दो और जोन ऐसे हैं, जो तेजी से खतरनाक स्थिति की ओर पहुंचते दिख रहे हैं। लिंबायत जोन के बाद शहर सेंट्रल जोन और वराछा ए जोन में बड़ी संख्या में कोरोना संक्रमित सामने आए हैं। दोनों जोन में 14 फीसदी से अधिक लोग कोरोना से संक्रमित हुए हैं। जिस तरह से इन जोन में संक्रमितों की संख्या में इजाफा हो रहा है, दोनों जोन एक-दूसरे को पछाड़ते हुए आगे निकलने की होड़ में दिख रहे हैं।

इन क्षेत्रों में काम कर रहे मनपा अधिकारी भी दबी जुबान मान रहे हैं कि सही समय पर सही फैसला लेने से चूके तो दोनों जोन में स्थितियां हाथ से निकल सकती हैं। ऐसे में स्थिति विस्फोटक हो, इससे पहले ही मनपा प्रशासन को दोनों जोन के लिए भी विशेष रणनीति बनाने की जरूरत है। जानकार मानते हैं कि उधना और वराछा बी जोन में भी सयम रहते जरूरी उपाय करने और अतिरिक्त सतर्कता बरते जाने की जरूरत है।

विनीत शर्मा Reporting
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned