कोरोना ने तोड़ दी लोगों की कमर

मुश्किल वक्त में पीएफ निकालकर चलाई गृहस्थी

By: विनीत शर्मा

Published: 18 Sep 2020, 08:04 PM IST

विनीत शर्मा

सूरत. कोरोना ने नौकरीपेशा लोगों के समक्ष किस तरह आर्थिक मुश्किलें खड़ी की हैं, इसी बात से समझा जा सकता है कि लोगों को अपने पीएफ तक से पैसे निकालने पड़ गए हैं। दक्षिण गुजरात में साढ़े तीन सौ करोड़ से अधिक की राशि निकाल ली है। पीएफ दफ्तर के मुताबिक 87,600 दावों का निपटारा किया गया है।

नौकरीपेशा लोगों के लिए प्रॉविडेंट फंड की राशि आमतौर पर सेवानिवृत्ति के बाद जीवन-यापन और दूसरी जरूरतों को पूरा करने का बड़ा सहारा होती है। इसीलिए पीएफ से राशि निकालना बैंक खाते से पैसा निकालने जैसा आसान कभी नहीं रहा। सरकार भी खास मौकों पर ही पीएफ से राशि निकालने की मंजूरी देती है। कोविड-19 ने अर्थव्यवस्था पर कैसी चोट दी है और आम आदमी पर इसका असर समझने के लिए पीएफ से निकाली गई राशि के आंकड़े को देखना होगा। कोरोनाकाल ने लोगों को अपनी जरूरतों को पूरा करने के लिए पीएफ फंड से पैसा निकालने को मजबूर कर दिया।

सूरत रेंज पीएफ दफ्तर सूरत, तापी, नवसारी और वलसाड जिलों के नौकरीपेशा लोगों के पीएफ खातों का प्रबंधन करता है। पीएफ दफ्तर के मुताबिक कोरोनाकाल में सरकार की विशेष योजना में कोविड-19 क्लेम पॉलिसी के तहत 25,200 दावों का निपटारा कर पीएफ धारकों को 48.35 करोड़ रुपये दिए हैं। इसके अलावा अन्य जरूरतों के नाम पर लोगों ने 310.55 करोड़ रुपए निकाल लिए हैं। कई लोगों ने अपनी बीमारी के लिए भी पीएफ फंड से पैसे की निकासी की है।

यह रही वजह

कोविड-19 के दौरान लॉकडाउन और उसके बाद लोगों की नौकरियां छूटीं तो कई लोगों की तनख्वाह भी आधी हो गई। ऐसे में घर चलाना उनके लिए लगातार मुश्किल हो रहा था। फौरी जरूरतों को पूरा करने के लिए लोगों ने पहले अपनी जमापूंजी खर्च की। उसके बाद पीएफ खाते से पैसे निकालने शुरू कर दिए। इन दावों के निपटारे के लिए पीएफ दफ्तर ने आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस टूल भी लांच किया है।

लोगों को समय पर किया भुगतान

कई नौकरीपेशा लोगों को लॉकडाउन के कारण वित्तीय कठिनाइयों का सामना करना पड़ रहा है। सरकार ने इन मुश्किलों से निपटने के लिए लोगों को अपने पीएफ खातों से पैसे निकालने की अनुमति दी है। हमने विभाग को मिल रहे दावों का समय पर निपटारा किया है।
अजीत कुमार, पीएफ कमिश्नर, सूरत

विनीत शर्मा Reporting
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned