कोरोना का डर: नहीं होगी किसी भी महाविद्यालय की जांच

- किसी भी महाविद्यालय में वीएनएसजीयू नहीं भेजेगा एलआईसी
- ओनलाइन वीडियो कॉन्फ्रेंस के माध्यम से किया जाएगा महाविद्यालय का निरीक्षण

By: Divyesh Kumar Sondarva

Published: 20 May 2021, 07:47 PM IST

सूरत.
कोरोना का डर अभी तक जा नहीं रहा है। वीर नर्मद दक्षिण गुजरात विश्वविद्यालय(वीएनएसजीयू) ने संबद्ध महाविद्यालयों में लोकल इंक्वायरी कमेटी(एलआईसी) नहीं भेजने का तय किया है। ओनलाइन वीडियो कॉन्फ्रेंस के माध्यम से महाविद्यालयों का निरीक्षण कर मान्यता प्रदान की जाएगी।

कोरोना संक्रमण ने शिक्षा जगत में हड़कंप मचा कर रख दिया है। विश्वविद्यालय और महाविद्यालय के कई कर्मचारी कोरोना की चपेट में आ चूके हैं। कई कर्मचारियों की कोरोना से मौत भी हो गई है। कई महाविद्यालय के प्राचार्यों ने भी कोरोना के कारण जान गवा दी है। इसलिए विवि कोरोना के कारण 50 प्रतिशत स्टाफ से काम चला रहा है। बिना कारण विवि में आने पर रोक लगा रखी है।

ज्यादातर अधिकारी घर से काम कर रहे हैं। आने वाले दिनों में प्रवेश प्रक्रिया शुरू करने का विचार किया जा रहा है। इससे पहले महाविद्यालयों को मान्यता देना जरूरी है। महाविद्यालयों में किसी तरह की सुविधा है उसके आधार पर पाठ्यक्रम और कक्षाओं की संख्या तय होती है। बाद में महाविद्यालय को प्रवेश की सूची में शामिल किया जाता है। महाविद्यालयों के निरीक्षण के लिए हर साल एलआईसी भेजी जाती है। एलआईसी रिपोर्ट के आधार पर महाविद्यालय को मान्यता प्रदान की जाती है। लेकिन कोरोना के कारण इस बार किसी भी महाविद्यालय में एलआईसी नहीं भेजी जाएगी।
- सिंडीकेट ने किया फैसला
विवि में मंगलवार को सिंडीकेट की बैठक में महाविद्यालयों की एलआईसी पर चर्चा की गई। चर्चा के बाद तय किया गया कि किसी भी महाविद्यालय में एलआईसी नहीं भेजी जाएगी। ओनलाइन वीडियो के माध्यम से कॉलेज का निरीक्षण कर उसे मान्यता प्रदान की जाएगी। जिससे संक्रमण का डर ना रहे। अब देखना यह है कि विवि की यह नीति कितनी कारगर साबित होती है। क्योंकि एलआईसी की रिपोर्ट होने के बावजूद कई महाविद्यालय शर्ते पूरी नहीं करते। विद्यार्थियों को सुविधा नहीं देते और अतिरिक्त वर्ग व फीस की मांग करते रहते हैं।

Divyesh Kumar Sondarva Reporting
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned