COVID 19 IN SURAT : हर तरफ कोरोना की 'सूरत', मंजर अफरा- तफरी के

 

अस्पतालों में जाने से कतरा रहे गंभीर रोगों के मरीज, वैक्सीन के लिए निकट व्यवस्था नहीं होने से भी परेशान

Patients of serious diseases are shying away from going to hospitals, also worried about not having close arrangement for vaccine

By: Dinesh M Trivedi

Published: 11 Apr 2021, 11:43 AM IST

सूरत. कोरोना महामारी की सेकंड वेव घातक साबित हो रही है। शहर में कोरोना का इतना कोहराम तो पिछले साल भी नहीं मचा था। पिछले दो-तीन सप्ताह में ही संक्रमण की आश्चर्यजनक रफ्तार से शहर में हर क्षेत्र में अफरा- तफरी का माहौल हो गया है। व्यवस्थाएं बौनी नजर आ रही है और जरूरतें बहुत ज्यादा। शहर के निजी और सार्वजनिक अस्पताल भर चुके हैं।

हालात ऐसे की, जरा से और लोग आ गए तो बिना ऑक्सीजन की व्यवस्था के अस्पताल परिसर में ही दम तोड़ देंगे। सिटीस्केन सेंटरों और श्मशानों में कतारें हैं, शव को दाह देने के लिए 8 से 10 घंटे की वेटिंग और इसके बीच जल्द अंतिम संस्कार के लिए रिश्वत लेने के भी आरोप ! हो सकता है कि अफरा- तफरी और दहशत का माहौल ना बने इसलिए शायद सरकार मौतों के आंकड़े कम बता रही है।

आंकड़ों से 3 गुना लोग मर तो रहे हैं यह शमशान में शवों की गंध बताती है। इधर, वैक्सीन कम पड़ रही है तो उधर ना जाने कहां से ना मिलने वाले इंजेक्शन बंट रहे हैं! रेमदेसीविर इंजेक्शन के लिए कई दिनों से धूप में घंटों खड़े रहने वाले लोग ठगे से महसूस कर रहे हैं। लोग परेशान है और प्रशसान फौरी इंतजाम कर रहा है। व्यापार-उद्योग पटरी पर आ कर लुटा हुआ महसूस कर रहे हैं।

COVID 19 IN SURAT : हर तरफ कोरोना की 'सूरत', मंजर अफरा- तफरी के

व्यापारी परेशान है तो श्रमिक डर के मारे फिर पलायन पर आमादा है। कर्फ्यू ऐसा की उसी समय शहर की सडक़ों पर जाम रहा है। इन तमाम मुश्किल हालातों में राजनीतिक दल आरोप प्रत्यारोप के बीच न जाने कौन से कल का भविष्य तलाश रहे हैं!!!

----------

अस्पतालों में जाने से कतरा रहे गंभीर रोगों के मरीज, वैक्सीन के लिए निकट व्यवस्था नहीं होने से भी परेशान


सूरत. कोरोना वैक्सीन लगवाने के लिए हृदय रोग, कैंसर आदि गंभीर रोगों से पीडि़त मरीजों को परेशान होना पड़ रहा है। बड़े अस्पतालों में हालात गंभीर और घर के निकट व्यवस्था नहीं होने के कारण वे वैक्सीन भी नहीं लगवा पा रहे हैं। जानकारों का कहना हैं कि मनपा के शहर में स्थित महानगर पालिका के विभिन्न हेल्थ सेंटरों 45 से अधिक उम्र के व्यक्तियों को वैक्सीन लगाई जा रही है।

मनपा द्वारा शुरू की गई वैक्सीनेशन वैन द्वारा भी सोसायटियों में जाकर वैक्सीन लगाई जा रही है। लेकिन इन वैन में डॉक्टर नहीं होने तथा कई हेल्थ सेन्टरों में भी डॉक्टर नहीं होने के कारण हृदय, कैंसर आदि गंभीर रोगों से पीडित लोगों को वैक्सीन नहीं लगाई जा रही है।

वहां जाने पर उन्हें न्यू सिविल अस्पताल या फिर स्मीमेर अस्पताल जाकर डॉक्टरी जांच के बाद वैक्सीन लगवाने के लिए कहा जा रहा है। लेकिन स्मीमेर और सिविल अस्पताल कोरोना मरीजों से फुल होने के कारण पीडि़त व उनके परिजन उन्हें वहां ले जाने से कतरा रहे हैं।

Dinesh M Trivedi Reporting
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned