कोर्ट ने फिर खारिज की हेड कांस्टेबल की जमानत याचिका

सागवान भरा टैम्पो रोककर रंगदारी मांगने का मामला

Vineet Sharma

December, 0410:02 PM

बारडोली. शहर के पास सागवान की लकड़ी से भरा टैम्पो रोककर आठ लाख रुपए की रंगदारी मांगने के मामले में बारडोली एडीशनल सेशन कोर्ट ने हैड कांस्टेबल दीपक म्हाले की जमानत याचिका एक बार फिर खारिज कर दी।

जानकारी के अनुसार 30 अगस्त को हैड कांस्टेबल दीपक वामनराव म्हाले ने बारडोली के निकट राष्ट्रीय राजमार्ग संख्या 53 पर सागवान की लकड़ी से भरा टैम्पो रोककर मालिक के पास से आठ लाख रुपए मांगे थे। बारडोली थाने में शिकायत के बाद हुई जांच में टैम्पो चालक अमित उर्फ रामगोपाल शर्मा, धर्मेश रमण मैसूरिया और रामदेव मदनलाल मिस्त्री की मिलीभगत भी सामने आई थी। पुलिस ने हैड कांस्टेबल दीपक म्हाले, टैम्पो चालक अमित उर्फ रामगोपाल और धर्मेश मैसूरिया को गिरफ्तार किया था, जबकि रामदेव पुलिस की पकड़ से बाहर है। तीनों का रिमांड पूरा होने के बाद धर्मेश और दीपक ने बारडोली की एडीशनल डिस्ट्रिक्ट एंड सेशन्स कोर्ट में पहली बार जमानत याचिका दायर की थी, जिसे कोर्ट ने खारिज कर दिया था।

पुलिस के कोर्ट में चार्जशीट पेश करने के बाद एक बार फिर कोर्ट के समक्ष जमानत याचिका दायर की। चार्जशीट में भ्रष्टाचार अधिनयम की धारा जुडऩे के बाद कोर्ट ने जमानत याचिका पर सुनवाई की थी। सरकारी वकील जितेंद्र पारडीवाला की दलीलों पर सहमति जताते हुए कोर्ट ने एक बार फिर आरोपियों की जमानत याचिका खारिज कर दी।

विनीत शर्मा
और पढ़े
खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned