त्यौहार पर खरीदी के लिए भीड़ पड़ सकती है भारी, कोरोना की चाल अब दबे पांव

-खतरे की घंटी, सावधानी का समय ...

- सितम्बर में रोजाना आ रहे थे डेढ़ सौ मरीज, अब अक्टूबर में मिल रहे है पौने दो सौ

- नवरात्रि के दौरान गाइडलाइंस का पालन करने में थोड़ी सी लापरवाही पड़ सकती है सेहत पर भारी

By: Sanjeev Kumar Singh

Published: 18 Oct 2020, 11:12 PM IST

सूरत.

नवरात्रि के शुरू होते ही दशहरा दिवाली त्योहारों की लाइन लग गई है। कोरोना महामारी के चलते राज्य सरकार ने शारदीय नवरात्रि में गरबा-डांडिया पर तो रोक लगा दी है, लेकिन नवरात्री से पहले बाजार में खरीदारी करने के लिए लोगों की भीड़ उमड़ रही है। इसका असर यह हो रहा है कि शहरी क्षेत्र में रोजाना पौने दो सौ कोरोना मरीज सामने आने लगे हैं। वहीं, सितम्बर में इसी दौरान कोरोना मरीजों की संख्या रोजाना डेढ़ सौ दर्ज हो रही थी। शहरवासियों के लिए यह खतरे के अलार्म से कम नहीं है। क्योंकि सितंबर के बाद फिर तो संख्या कम होनी चाहिए थी। नवरात्रि के दौरान गाइडलाइंस का पालन करने में हुई थोड़ी सी लापरवाही सेहत पर भारी हो सकती है। चिकित्सकों ने पहले भी चेताया है कि जब तक टीका नहीं, तब तक मास्क और दो गज की दूरी से ही कोरोना वायरस से बचाव है।

पूरे राज्य में अक्टूबर में रोजाना 1100 से 1300 के बीच कोरोना पॉजिटिव सामने आ रहे हैं। इसी तरह सूरत में भी कोरोना के मरीज कम होने का नाम नहीं ले रहे। राज्य में सूरत में ही सर्वाधिक कोरोना के मामले दर्ज किए जा रहे हैं। नवरात्रि के पहले बाजारों में खरीदारी करने वालों की भीड़ देखने को मिल रही थी। छोटे बाजारों में आम लोगों की भीड़ बढ़ी और सोशल डिस्टेंसिंग का पालन नहीं होने से एक बार फिर से कोरोना वायरस दबे पांव बढऩे लगा है। मनपा स्वास्थ्य विभाग के आंकड़े के मुताबिक, 10 से 17 सितम्बर के बीच शहरी क्षेत्रों में कोरोना मरीजों की संख्या घटकर 150 से 160 के बीच हो गई थी, लेकिन एक से 17 अक्टूबर के बीच रोजाना 170 से 180 कोरोना मरीज मिल रहे हैं। अब तक अक्टूबर में शहरी क्षेत्र में 2968 मरीज मिले हैं। दूसरी तरफ ग्रामीण क्षेत्रों में कोरोना मरीजों की संख्या सौ से कम हो गई है, लेकिन अब भी रोजाना 70 से 90 पॉजिटिव प्रतिदिन सामने आ रहे हैं। ग्रामीण क्षेत्रों से अक्टूबर माह में अब तक 1551 मरीज सामन आए हैं। सितम्बर और अक्टूबर में पिछले आठ दिनों के आंकड़े देखे तो कोरोना मरीज बढ़े हैं। चिकित्सकों ने पहले ही बता दिया था कि नवरात्रि के दौरान शहरवासियों को अधिक सतर्क रहने की आवश्यकता है।


छह दिन में ही हजार पार !

सितम्बर में सात से आठ दिन में एक हजार मरीज सामने आ रहे थे, लेकिन अक्टूबर में छह दिन में ही एक हजार का आंकड़ा पार हो रहा है। गाइडलाइंस का पालन करने में ढिलाई बरतने पर गंभीर नतीजे सामने आने की चेतावनी डॉक्टर दे रहे हैं। उनके अनुसार कोरोना वायरस से स्वस्थ होने वाले व्यक्तियों को बाद में दूसरी तकलीफें भी हो रही है।

सोसायटी प्रमुखों को पहुंचा रहे गाइडलाइंस

राज्य सरकार ने सार्वजनिक स्थलों और सोसायटियों में दुर्गा माता की मूर्ति स्थापना और पूजा के लिए गाइडलाइंस तय की है। सूरत महानगरपालिका की ओर से गाइडलाइंस की जानकारी सोसायटी प्रमुखों को पहुंंचाई जा रही है। मनपा ने हाल में ही कुछ इलाकों में सोसायटी प्रमुखों से बैठक कर गरबा का आयोजन नहीं करने के लिए समझाया है। इसका असर भी देखने को मिल रहा है। नवरात्रि के पहले दिन ज्यादातर सोसायटियों में कोई डीजे या डांडिया का आयोजन नहीं हुआ। सरकार ने मूर्ति स्थापना और दो सौ लोगों तक आरती करने की मंजूरी दी है, लेकिन गरबा खेलने की अनुमति नहीं मिलने के कारण सोसायटियों में उत्साह देखने को नहीं मिल रहा।

गाइडलाइंस की ये प्रमुख बातें..

- गरबी/मूर्ति स्थापना और पूजा कर सकते हैं, लेकिन मूर्ति का चरण स्पर्श और प्रसादी वितरण नहीं। मंदिरों में घंटियां नहीं छूना है।

- 200 लोगों तक एक घंटे के लिए एसओपी का पालन करके पूजा करेंगे।

- कंटेनमेंट एरिया के बाहर सामाजिक, शैक्षणिक खेल-कूद, मनोरंजन, सांस्कृतिक, धार्मिक कार्यक्रम शर्तो के साथ।

- मास्क-छह फूट की दूरी के साथ फिजिकल डिस्टेंस और फ्लोर मार्किंग अनिवार्य।

- हैंडवॉश सेनेटाइजर, थर्मल स्कैनर रखना होगा, स्थल पर कुर्सी व स्टेज को समय-समय पर सेनेटाइज करना होगा।

- जरूरी दिशा-निर्देश नहीं मानने पर स्थल संचालक-आयोजक के खिलाफ कार्रवाई की जाएगी।

शहर और ग्रामीण क्षेत्रों में कोरोना : (17 अक्टूबर तक)

माह/ शहर में मरीज / गांव में मरीज

अक्टूबर -2968/ -1551

सितम्बर -5037/ -3149

अगस्त -5489 -1831

जुलाई -6263 -2173

कोरोना मरीजों की स्थिति (सितम्बर-अक्टूबर)

दिनांक /मरीज

17 अक्टूबर -171

16 अक्टूबर -178

15 अक्टूबर -176

14 अक्टूबर -174

13 अक्टूबर -169

12 अक्टूबर -171

11 अक्टूबर -175

10 अक्टूबर -171

दिनांक -मरीज

17 सितम्बर -161

16 सितम्बर -155

15 सितम्बर -151

14 सितम्बर -146

13 सितम्बर -153

12 सितम्बर -144

11 सितम्बर -150

10 सितम्बर -154

Sanjeev Kumar Singh Reporting
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned