सूरत के सीटीआई कोरोना पॉजिटिव, 21 रेलकर्मियों को किया होम क्वारन्टाइन

श्रमिक स्पेशल ट्रेनों के संचालन के दौरान संक्रमण होने की आशंका

दो जून से थे सेल्फ क्वारन्टाइन में

By: Sanjeev Kumar Singh

Updated: 14 Jun 2020, 06:01 PM IST

सूरत.

सूरत रेलवे स्टेशन के डीसीटीआई ऑफिस में काम करने वाले एक सीटीआई की कोरोना वायरस रिपोर्ट पॉजिटिव आने के बाद हडक़म्प मच गया हैं। उनके सम्पर्क में आए मुम्बई के एडीआरएम, डीसीएम और सूरत के अन्य स्टाफ समेत कुल 21 जनों को क्वारन्टाइन में भेज दिया गया है। गौरतलब है कि सूरत के टिकट चेकिंग स्टाफ ने श्रमिक स्पेशल ट्रेनों के संचालन के दौरान 24 घंटे लगातार ड्यूटी की थी। सूरत स्टेशन से सबसे अधिक श्रमिक स्पेशल ट्रेनों को कम समय में चलाने का रिकार्ड हैं।

पश्चिम रेलवे ने दो मई से 11 जून तक कुल 1221 श्रमिक स्पेशल ट्रेनें चलाई है जिसमें करीब 18.35 लाख प्रवासी श्रमिकों को गृहनगर भेजा गया हैं। इसमें सूरत रेलवे स्टेशन से दो से 31 मई तक 450 श्रमिक स्पेशल ट्रेनों में सात लाख चार हजार 977 प्रवासी श्रमिकों को गृहनगर भेजा गया। इस दौरान स्टेशन पर प्रवासी श्रमिकों को स्टेशन आने के बाद कोच के अंदर बैठाने तक की जिम्मेदारी अलग-अलग विभागों को बांटी गई थी। व्यवस्था संभालने के लिए रेलवे पुलिस, रेलवे सुरक्षा बल और कॉमर्शियल में टिकट चेकिंग स्टाफ को प्लेटफार्म पर तैनात किया गया था।

राजस्थान पत्रिका ने चार जून को - '155 में से केवल 45 टीटीई ने चला दी 447 श्रमिक स्पेशल, -90 लोगों ने किया आराम' शीर्षक से खबर प्रकाशित की थी। इसके पहले ही 2 जून से सूरत के डीसीटीआई ऑफिस में कार्यरत सीटीआई अमीन मिर्जा तबीयत खराब होने के चलते होम क्वारन्टाइन में चले गए थे। इनके साथ काम करने वाले कुछ प्रमुख लोग भी तबीयत बिगडऩे की आशंका के चलते क्वारन्टाइन हो गए थे। इसी दौरान अधिक तबीयत बिगडऩे के चलते अमीन मिर्जा 11 जून को यूनाइटेड ग्रीन अस्पताल में भर्ती हुए।

चिकित्सकों ने उनमें कोरोना के लक्षण देखते हुए जांच करवाई तो गुरुवार रात को रिपोर्ट पॉजिटिव आई। यह खबर मिलते ही रेलवे विभाग में हडक़म्प मच गया। अमीन मिर्जा के सम्पर्क में आने वाले लोगों की तलाश शुरू की गई। दिनभर में 21 रेलवे कर्मचारियों के नाम का पता चला, जो मिर्जा के सम्पर्क में आए थे। रेलवे ने इन कर्मचारियों को होम क्वारन्टाइन रहने के निर्देश दिए हैं।


क्वारन्टाइन डे के दस दिन तो बीता दिए स्टेशन पर

सूरत वाणिज्य विभाग ने मुम्बई रेल मंडल को 21 कर्मचारियों की लिस्ट भेजी है। स्थानीय कर्मचारियों ने बताया कि मिर्जा दो जून से सेल्फ क्वारन्टाइन में है, लेकिन उनके साथ काम करने वाले 21 जनें, जिन्हें शुक्रवार को होम क्वारन्टाइन पर जाने के निर्देश दिए गए है। वह अब तक सूरत स्टेशन पर ड्यूटी कर रहे थे। होम क्वारन्टाइन में जाने वाले इन 21 कर्मचारियों में से कोई भी एक पॉजिटिव आया तो वायरस की चेन लम्बी हो सकती हैं। स्थानीय वाणिज्य विभाग की लापरवाही के चलते शुक्रवार तक ड्यूटी करने वाले रेलकर्मियों को सिर्फ चार दिन होम क्वारन्टाइन किया गया हैं। इन्हें 17 जून को बिना किसी मेडिकल सर्टिफिकेट के ड्यूटी ज्वॉइन करने को कहा गया हैं।


आराम करने वालों की नींद नहीं टूटी

पश्चिम रेलवे ने रेलवे कर्मचारियों के आने-जाने के लिए वर्कमैन स्पेशल ट्रेन का संचालन किया हैं। सूरत स्टेशन से सुबह छह बजे वर्कमैन स्पेशल रवाना होकर विरार सुबह साढ़े दस बजे पहुंचती है। यही ट्रेन दोपहर तीन बजे फिर विरार से रवाना होती है और शाम साढ़े सात बजे सूरत पहुंचती है। इसके बाद इसी ट्रेन को सूरत से रात आठ बजे वलसाड के लिए रवाना किया जाता है जो रात 9.15 बजे पहुंचती है। वलसाड से यह वर्क स्पेशल सुबह चार बजे रवाना होकर सूरत सवा पांच बजे पहुंचती है। लेकिन टिकट चेकिंग स्टाफ में काम करने वाले कई टीटीई अभी भी ड्यूटी के लिए सूरत स्टेशन नहीं आते है। राजस्थान पत्रिका में खबर छपने के बाद 10-15 टीटीई को ड्यूटी बुलाया गया, लेकिन मामला ठंडा होते ही उन्होंने फिर से ड्यूटी आना बंद कर दिया हैं।

Show More
Sanjeev Kumar Singh Reporting
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned