बैंक खुलते ही जुटे ग्राहक

लक्ष्मी विलास बैंक- केंद्र की पाबंदियों से ग्राहकों में बेचैनी

By: विनीत शर्मा

Published: 21 Nov 2020, 06:45 PM IST

सूरत. केंद्र सरकार ने प्राइवेट सेक्टर के लक्ष्मी विलास बैंक पर बुधवार को लगी कई तरह की पाबंदियों के बाद गुरुवार को सूरत के वराछा स्थित बैंक शाखा के बाहर ग्राहकों की कतार लग गई।

केंद्र सरकार ने निजी क्षेत्र के बैंक लक्ष्मी विलास बैंक को मोरेटोरियम के तहत रखा है। इस दौरान ग्राहकों को 16 दिसंबर तक अपने खातों से महज 25 हजार रुपए निकालने की ही अनुमति है। यह खबर आम होते ही बैंक के ग्राहकों में बेचैनी है। सूरत के वराछा में भी बैंक की एक शाखा है। गुरुवार को बैंक शाखा खुलने से पहले ही ग्राहकों की भीड़ जुट गई थी। हालांकि आरबीआइ ने साफ किया है कि बीमारी या विवाह आयोजनों के लिए पूर्व अनुमति के बाद बैंक से अधिक रकम की भी निकासी की जा सकती है।
बैंक ग्राहकों की बेचैनी को देखते हुए बैंक प्रशासक पहले ही साफ कर चुका है कि सभी ग्राहकों की रकम पूरी तरह सुरक्षित है। यह पाबंदी बैंक की लगातार बिगड़ती स्थिति को सुधारने के लिए लगाई गई है। गौरतलब है कि बैंक पिछले लंबे अरसे से पूंजी संकट से जूझ रहा है।

विनीत शर्मा Reporting
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned