रूट मार्च निकालकर दमण पुलिस ने किया खबरदार

रूट मार्च निकालकर दमण पुलिस ने किया खबरदार

Sunil Mishra | Updated: 14 Jul 2019, 07:13:53 PM (IST) Surat, Surat, Gujarat, India

आसामाजिक प्रवृत्तियों पर अंकुश लगाने को कहा
डीआइजीपी ऋषिपाल सिंह की कमान में निकला मार्च

दमण. दमण पुलिस ने पर्यटन स्थलों एवं सार्वजनिक जगहों पर आसामाजिक प्रवृत्तियों पर अंकुश लगाने तथा ऐसी हरकतों से लोगों को खबरदार करने के लिए रूट मार्च किया। डीआईजी ऋषिपाल सिंह की कमान में पुलिस अधीक्षक, एसडीपीओ और पुलिस कर्मियों ने जमपोर, मोटी दमण से श्मशान-भूमि, नानी दमण तक पैदल मार्च किया। जमपोर बीच से नए रास्ते होकर पैदल चलकर मोटी दमण जेटी तक का पुलिस दल ने बारीकी से मुआयना किया। पर्यटकों और लोगों को समुद्र में नहीं जाने तथा खुले में शराब पीने से परहेज करने को कहा। मोटी दमण जेटी से होकर दमणगंगा पैदल पुल के रास्ते पुलिसकर्मी लोगों की गतिविधियों का मुआयना करते और अवांछित गतिविधियों से दूर रहने को समझाते-चेताते हुए नानी दमण जेटी पहुंचे। नानी दमण जेटी से समुद्रनारायण मंदिर वाया छपली शेरी दरियाई किनारे का मुआयना करते लोगों को सुरक्षा ताकीद करते पुलिस दल सी-फेस जेटी पहुंचा। यहां भी पर्यटकों और अन्य लोगों को उफनते समुद्र में नहीं जाने तथा आवारागर्दी से दूर रहने को चेताया। पूरे रूट मार्च के दौरान वाहनों की गतिविधियों पर भी नजर रखी गई। डीआईजीपी ऋषिपाल सिंह ने बताया कि रूट मार्च में हमने टूरिस्ट प्लेस और सार्वजनिक जगहों पर छेड़छाड़, शराबखोरी जैसी अवांछित गतिविधियों की थाह लेने की कोशिश है। हमें सूचनाएं मिली थीं कि वीकेंड में इस तरह की घटनाएं इन जगहों पर होती हैं। लिहाजा इसकी तस्दीक करने के लिए यह रूट मार्च निकाला गया। डीआईजी के साथ एसपी विक्रमजीत सिंह, एसडीपीओ रजनीकांत अवधिया, नानी दमण एसएचओ सोहिल जिवाणी, मोटी दमण एसएचओ सुरेश शाह, कोस्टल थाना कड़ैया इंचार्ज धनजी दुबरिया एवं अन्य पुलिस कर्मी थे। पुलिस दल को पैदल मार्च करते देख लोगों में कौतूहल नजर आया।

Show More
खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned