डांग गोल्डन गर्ल सरिता ने फिर जीता स्वर्ण पदक

चेक गणराज्य में आयोजित 400 मीटर बाधा दौड़

By: सुनील मिश्रा

Published: 24 Jul 2018, 11:11 PM IST



वांसदा. डांग की गोल्डन गर्ल कुमारी सरिता गायकवाड़ ने चेक गणराज्य में आयोजित ग्रांड प्रिक्स एथलेटिक्स प्रतियोगिता में 400 मीटर बाधा दौड़ 57.71 सेकन्ड में पूरी कर भारत को स्वर्ण पदक दिलाया है। सरिता के करियर का यह सबसे बेहतर रिकॉर्ड है। टेलीफोन से हुई बातचीत में सरिता ने बताया कि वह इन दिनों पोलैन्ड में एशियन गेम्स की तैयारी कर रही है। जहां से चेक गणराज्य में आयोजित टूर्नामेन्ट में भाग लेने पहुंची थी। जहां उसने देश के लिए एक और कामयाबी हासिल की है। इससे पूर्व भी सरिता कई अंतरराष्ट्रीय प्रतियोगिताओं में भारत के लिए स्वर्ण पदक जीत चुकी है। गोल्डन गर्ल सरिता गायकवाड़ आगामी महीने इंडोनेशिया में आयोजित होने वाले एशियन गेम्स में भारत की ओर से प्रतिनिधित्व करेगी।

12 गांवों में महसूस हुए भूकंप के झटके
वांसदा. तहसील के 12 गांवों में मंगलवार को भूकंप के झटके महसूस किए गए। सुबह करीब सवा छह बजे और साढ़े दस बजे दो बार यह झटके लगे। रिक्टर पैमाने पर सवा छह बजे आए भूकंप की तीव्रता 3.1 बताई गई है। कंसारिया और सुखाबारी गांव में भूकंप के कारण मकान की दीवार भी टूटने की बात सामने आई है। भूकंप का केन्द्र वलसाड के आसपास बताया गया है। एक वर्ष पहले भी इसी विस्तार में भूकंप के झटके लगे थे। सुबह केलिया डेम के पास के लीमझर, सुखाबारी, वांसकुई, कावड़ेज, घोड़मार, ढोलुम्बर, रंगपुर, वंासदा, वाघाबारी समेत 12 गांवों में झटके महसूस किए गए। इससे भयभीत लोग घर से बाहर खुले में आ गए थे।
सुखाबारी गांव के सरपंच राजू भाई ने बताया कि सुबह सवा छह बजे और साढ़े दस के बीच पांच बार झटके महसूस हुए। इससे लोगों मे भय फैल गया। भूकंप का झटका आने पर सुखाबारी गांव के रतु पटेल के घर की दीवार धड़ाम से गिर गई। हालांकि इससे पहले घर के लोग बाहर निकल गए थे, जिससे कोई चोटिल नहीं हुआ। वहीं, कंसारिया गांव में रामू कुरकुटिया के घर की दीवार में दरार आ गई। शाम तक भूकंप के झटके की जानकारी लेने कोई अधिकारी नहीं पहुंचा था।

सुनील मिश्रा
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned