scriptDay-to-day hearing of Surat Grishma Vekaria murder case | Surat/ ग्रीष्मा वेकरिया हत्या प्रकरण की डे-टू-डे सुनवाई: अब तक 58 पंच-गवाहों की गवाही कोर्ट में दर्ज | Patrika News

Surat/ ग्रीष्मा वेकरिया हत्या प्रकरण की डे-टू-डे सुनवाई: अब तक 58 पंच-गवाहों की गवाही कोर्ट में दर्ज

सोमवार को प्रत्यदर्शी और इलेक्ट्रीक सबूतों की जांच करने वाले अधिकारियों की गवाही होगी दर्ज

सूरत

Published: March 05, 2022 08:46:12 pm

सूरत. दिनदहाड़े गला रेत कर कॉलेज छात्रा ग्रीष्मा वेकरिया की हत्या के मामले में सेशन कोर्ट में जारी डे-टू-डे सुनवाई में चार दिन के दौरान मामले से जुड़े कुल 58 पंच-गवाहों की गवाही दर्ज की गई है । अब सोमवार को प्रत्यदर्शी के साथ ही इलेक्ट्रीक एविडन्स की जांच कर उसे प्रमामित करने वाले अधिकारियों की गवाही दर्ज की जाएगी।
Surat/ ग्रीष्मा वेकरिया हत्या प्रकरण की डे-टू-डे सुनवाई: अब तक 58 पंच-गवाहों की गवाही कोर्ट में दर्ज
File Image

मुख्य जिला लोकाभियोजक नयन सुखड़वाला ने बताया कि आरोप तय होने के बाद सोमवार से हत्या मामले में न्यायिक प्रक्रिया शुरू की गई थी। इस मामले में कुल 190 पंच-गवाह है, जिनकी गवाही दर्ज की जा रही है। अब चार दिनों में चली न्यायिक प्रक्रिया में अलग-अलग पंचनामाओं से जुड़े कुल 58 पंच-गवाहों की गवाही दर्ज करने की प्रक्रिया शनिवार को पूरी हो गई । अब सोमवार को घटना के प्रत्यदर्शी और इलेक्ट्रीक एविडन्स को प्रमाणित करने वाले एफएसएल के अधिकारियों की गवाही दर्ज करने की प्रक्रिया शुरू की जाएगी। गौरतलब है एक तरफा प्रेम में पागल फेनिल गोयाणी नाम के आरोपी ने 12 फरवरी को कामरेज में कॉलेज छात्रा ग्रीष्मा वेकरिया की दिन दहाड़े गला रेत कर हत्या कर दी थी। पुलिस ने सिर्फ पांच दिनों में जांच पूरी कर आरोपी के खिलाफ कोर्ट में चार्जशीट पेश की थी।
आंगणबाड़ी कार्यकर्ताओं ने बजट का विरोध किया, पुतला जलाने से पहले पुलिस ने रोका


सूरत.वेतन बढ़ोतरी समेत विभिन्न मांगों को बजट में शामिल नहीं किए जाने से नाराज आंगणबाड़ी कार्यकर्ताओं ने लिंबायत में विरोध प्रदर्शन किया। उन्होंने पुतला जलाने का प्रयास किया, लेकिन पुलिस ने उन्हें रोक लिया ।

लिंबायत क्षेत्र में शनिवार सुबह बड़ी संख्या में आंगणबाड़ी कार्यकर्ता इकठ्ठी हुई और सरकार के खिलाफ नारे लगाते हुए पुतला फूंकने का प्रयास किया। इस दौरान पुलिस मौके पर पहुंच गई और पुतला अपने कब्जे में ले लिया। कार्यकर्ताओं ने कहा कि लंबे समय से वे वेतन बढ़ोतरी की मांग कर रहे हैं। उन्हें उम्मीद थी कि इस बार के बजट में उनकी मांग को ध्यान में लिया जाएगा, लेकिन ऐसा नहीं हुआ। सरकार उनके साथ लगातार अन्याय कर रही है।

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

बड़ी खबरें

DGCA ने इंडिगो पर लगाया 5 लाख रुपए का जुर्माना, विकलांग बच्चे को प्लेन में चढ़ने से रोका थापंजाबः राज्यसभा चुनाव के लिए AAP के प्रत्याशियों की घोषणा, दोनों को मिल चुका पद्म श्री अवार्डIPL 2022 के समापन समारोह में Ranveer Singh और AR Rahman बिखेरेंगे जलवा, जानिए क्या कुछ खास होगाबिहार की सीमा जैसा ही कश्मीर के परवेज का हाल, रोज एक पैर पर कूदते हुए 2 किमी चलकर पहुंचता है स्कूलकर्नाटक के सबसे अमीर नेता कांग्रेस के यूसुफ शरीफ और आनंदहास ग्रुप के होटलों पर IT का छापाPM Modi in Gujarat: राजकोट को दी 400 करोड़ से बने हॉस्पिटल की सौगात, बोले- 8 साल से गांधी व पटेल के सपनों का भारत बना रहाOla, Uber, Zomato, Swiggy में काम करके की पढ़ाई, अब आईटी कंपनी में बना सॉफ्टवेयर इंजीनियरपंजाब की राह राजस्थान: मंत्री-विधायक खोल रहे नौकरशाही के खिलाफ मोर्चा, आलाकमान तक शिकायतें
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.