गहरे कुएं सूखे, पेयजल समस्या गंभीर

गहरे कुएं सूखे, पेयजल समस्या गंभीर

Sunil Mishra | Updated: 01 Jun 2019, 06:14:57 PM (IST) Surat, Surat, Gujarat, India

टैंकर से भी पानी की सप्लाई तीन दिन में एक बार


सिलवासा. पर्वतीय क्षेत्र में कुएं एवं बोरवेल सूखने से संघ प्रदेश दादरा नगर हवेली में पेयजल समस्या और गंभीर हो गई है। भीषण गर्मी के दौर में पेयजल की कमी मुख्य समस्या बन गई है। प्रदेश के मांदोनी, सिंदोनी समेत अन्य गांवों में पेयजल किल्लत से लोग परेशान हैं।
संघ प्रदेश के बेड़पा, हेडवाचीमाण, सिंदोनी, बेसदा, चिसदा, खेड़पा, वांसदा के ग्रामीण रीते कुएं से पानी एकत्र करते हैं। इन गांवों के कुओं में पानी सूख गया है तथा नदी-नाले पहले ही सूख चुके हैं। ग्रामीणों ने बताया कि गहरे कुओं में भी पानी कम हो गया हैं। इन गांवों में सरकारी टैंकरों से पानी की आपूर्ति हो रही है। दूधनी, मांदोनी सरकारी जलाशय योजना से गांवों को जरूरत का पूरा पानी नहीं मिला है। ग्रामीणों ने बताया कि सिंदोनी, बेड़पा में टैंकर आते ही ग्रामीण कुछ ही देर में खाली कर देते हैं। इस विस्तार में कुंओं से रिसते पानी के लिए ग्रामीण भोर जल्दी पहुंच जाते हैं। गांव के सोनू टोकरे, मनजी हरजी ने बताया कि सरकारी पानी के टैंकर तीन दिन में एक बार आता है, जिससे पानी की समस्या विकट हो गई है। गत मानसून में बारिश की कमी से गांव के तालाब आधे-अधूरे भी नहीं भर पाए थे। कई तालाब बदहाल हो गए हैं। हाल में कलक्टर कण्णन गोपीनाथन ने पेयजल समस्या को देखते हुए गांवों का दौरा किया। बेड़पा में लोगों ने कलक्टर के सामने पानी की किल्लत का रोना रोया। इसके बाद उन्होंने पानी के टैंकर बढ़ाने के आदेश दिए। इसी तरह खानवेल, रूदाना से सिंदोनी, फादरपाड़ा, बेड़पा, खेड़पा तक गांवों में पानी की समस्या गंभीर है। रूदाना जिला पंचायत सदस्य भीखू भीमरा ने बताया कि पेयजल टैंकरों के दौरे बढ़ाए गए हैं, मगर गर्मी में पानी की मांग और ज्यादा बढ़ गई है। रखोली पेयजल संयंत्र से यहां पानी पहुंचाने की योजना पर भी काम चल रहा है।

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned