एनओसी में देरी से छात्रों के भविष्य पर लग गया प्रश्नचिन्ह

- महाविद्यालयों की मनमानी के चलते विद्यार्थियों का परीक्षा फॉर्म हो सकता है रद्द

सूरत.

समय पर नो ऑब्जेक्शन सर्टिफिकेट (एनओसी) और ट्रान्सक्रीप्ट सर्र्टिफिकेट (टीसी) नहीं मिलने के कारण सैकड़ों विद्यार्थियों के भविष्य पर प्रश्न चिन्ह लग गया है। वीर नर्मद दक्षिण गुजरात विश्वविद्यालय (वीएनएसजीयू) का परीक्षा फॉर्म एनओसी और टीसी नहीं मिलने पर रद्द होने का विद्यार्थियों को भय सताने लगा है।

वीएनएसजीयू संबंद्ध महाविद्यालयों में इन दिनों परीक्षाओं की तैयारी चल रही है। मार्च-अप्रैल में विश्वविद्यालय परीक्षाओं का आगाज होगा। इसके लिए परीक्षा फॉर्म भरने की प्रक्रिया लगभग पूर्ण हो चुकी है। सैकड़ों विद्यार्थियों को अपने परीक्षा फॉर्म रद्द होने का भय सता रहा है। क्योंकि यह विद्यार्थी अभी तक एनओसी और टीसी जमा नहीं कर पाए हैं। सीनेटर ने इस संदर्भ में कुलसचिव को पत्र लिखकर विद्यार्थियों के हित में कदम उठाने की मांग की है।

स्नातक और अनुस्नातक पाठ्यक्रमों में प्रवेश के दौरान कई विद्यार्थी एनओसी और टीसी जमा नहीं कर पाए थे। समय पर इन्हें महाविद्यालयों से एनओसी और टीसी नहीं मिल पाए है। कुछ ना कुछ बहाने बनाकर विद्यार्थियों को परेशान किया जा रहा है। दूसरी ओर परीक्षा का समय पास आ रहा है। ऐसे में विद्यार्थी एनओसी और टीसी जमा नहीं कर पाए तो उनका परीक्षा फॉर्म रद्द हो जाएगा। इसलिए कुलसचिव को आग्रह किया गया है कि महाविद्यालयों को कड़े निर्देश दिए जाए, जिससे विद्यार्थियों के एनओसी और टीसी मिल सकें।

Divyesh Kumar Sondarva Reporting
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned