दिल्ली दो भाईयों ने कपड़ा कारोबारी के साथ की 90 लाख की धोखाधड़ी

- अमरोली में नकाबपोश बाइकर्स ने बिल्डर पर किया चाकू से हमला
- लिंबायत में 1.95 लाख की चोरी

By: Dinesh M Trivedi

Published: 03 Apr 2021, 11:27 AM IST

सूरत. एक कपड़ा कारोबारी ने दिल्ली के दो भाईयों पर 90 लाख रुपए की धोखाधड़ी का आरोप लगाते हुए पांडेसरा पुलिस थाने में प्राथमिकी दर्ज करवाई है। पुलिस के मुताबिक नई दिल्ली के महावीरनगर निवासी सुन्दरसिंह गुजराल व उसके भाई सूरजीत सिंह गुजरात ने मिल कर न्यू सिटी लाइट स्थित आर्शीर्वाद रेसीडेंसी निवासी हरजीतसिंह छाबड़ा के साथ धोखाधड़ी की। पांडेसरा जीआईसीडी के सेन्ट्रल पार्क में लेडिस शूट व दुप्पटे की फेक्ट्री चलाने वाले हरजीत को दोनों ने भरोसे में लिया। फिर वर्ष 2017 में उनसे बड़े पैमाने पर 90 लाख 9 हजार रुपए माल उधार लिया लेकिन उसका भुगतान नहीं किया। लंबे समय तक वे टामलटोल करते रहे। फिर अपनी दुकानें और मोबाइल फोन बंद कर फरार हो गए।
--------------------------------------
अमरोली में नकाबपोश बाइकर्स ने बिल्डर पर किया चाकू से हमला


सूरत. अमरोली के मनीषा घरनाला इलाके में नकाबपोश बाइकर्स ने एक बिल्डर पर चाकू से हमला कर दिया और उसे गंभीर रूप से घायल कर फरार हो गए। घायल बिल्डर को अस्पताल में भर्ती करवाया गया है। पुलिस के मुताबिक डभोली कृष्णापार्क निवासी पीडि़त कालू सावलिया गुरुवार को मनीषा घरनाला के निकट दिव्या मॉल नाम की अपनी साइट पर गए थे। वहां लाइट फिटिंग आदी का काम देख रहे भागीदार नरेश इटालिया के साथ बातचीत की। रात आठ बजे वह घर लौटने के लिए मोटरसाइकिल पर सवार हुए। उस समय नरेश दस्तावेज लेने के लिए कार्यालय के अंदर गए थे। ठीक उसी समय एक मोटरसाइकिल पर दो नकाब पोश आए और हमला कर वीआइपी सर्कल की ओर भाग गए।

लिंबायत में 1.95 लाख की चोरी


सूरत. लिम्बायत के नूरानी नगर इलाके के एक मकन में घुसे चोर 1.95 लाख रुपए क का सामान चुरा कर ले गए। घटना 30 मार्च की रात में किसी समय हुई। घटना को लेकर मकान मालिक शीरीन बी पत्नी कलीम शाह ने लिम्बायत थाने में प्राथमिकी दर्ज करवाई है। चोरों ने नकली चाबी या अन्य किसी तरिके से घर के मुख्य दरवाजे का ताला खोल कर अंदर प्रवेश किया और फिर नकदी व जेवर लेकर फरार हो गए।

Dinesh M Trivedi Reporting
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned