यार्न व्यवसायियों पर वीवर्स को परेशान करने का आरोप

यार्न व्यवसायियों पर वीवर्स को परेशान करने का आरोप

Pradeep Devmani Mishra | Publish: Sep, 05 2018 09:18:30 PM (IST) Surat, Gujarat, India

सूरत में 95 प्रतिशत यार्न व्यवसायी और वीवर्स एक दूसरे को जानतें हैं

सूरत

साउथ गुजरात यार्न डीलर्स एसोसिएशन की ओर से हाल में ही माल बिक्री के पहले वीवर्स से कोरा चेक लेने का निर्णय किया गया है। फैडरेशन ऑफ गुजरात वीवर्स एसोसिएशन ने इस फैसले के खिलाफ वीवर्स को परेशान करने का आरोप लगाया है।
फोगवा का कहना है कि साउथ गुजरात यार्न डीलर एसोसिएशन की ओर से सौदा के पहले कोरा चेक लेने का निर्णय ठीक है, लेकिन सूरत में 95 प्रतिशत यार्न व्यवसायी और वीवर्स एक दूसरे को जानतें हैं। अविश्वास की समस्या सिर्फ पांच प्रतिशत किस्सों में ही आता है। फोगवा ने आरोप लगाया कि यार्न डीलर्स में आपस में ही एक दूसरे के ग्राहकों को अपनी ओर खींचने का प्रयास चल रहा है। उनके बीच चल रही स्पर्धा के कारण वीवर्स परेशान हैं।
उल्लेखनीय है कि कुछ दिनों पहले ही साउथ गुजरात यार्न डीलर एसोसिएशन की मीटिंग हुई थी। मीटिंग में वीवर्स की ओर से समय पर नहीं आ रहे पेमेन्ट को लेकर चर्चा हुई और यार्न व्यवसायियों ने वीवर्स से सौदे के पहले कोरा चेक लिखवाने का निर्णय पारित किया।

यार्न की लगातार बढ़ती कीमतों पर लगाम लगाने की मांग
यार्न की कीमत डेढ़ महीने से लगातार बढ़ रही है। आगामी दिनों में भी यार्न की कीमत में कमी आने के कोई आसार नहीं हैं। वीवर्स का आरोप है कि डॉलर की कीमत बढऩे की आड़ में उत्पादक जान बूझकर यार्न की ज्यादा कीमत वसूल रहे हैं। फैडरेशन ऑफ गुजरात वीवर्स एसोसिएशन ने इसके खिलाफ कलक्टर को ज्ञापन देकर कार्रवाई की मांग की है।
फोगवा ने ज्ञापन में बताया कि यार्न उत्पादक कार्टेल्स बनाकर मनमाने ढंग से यार्न की कीमत बढ़ा रहे हैं। डॉलर की बढ़ी कीमत की अपेक्षा तीन गुना ज्यादा कीमत बढ़ा चुके हैं। यार्न की कीमत बढऩे के कारण यार्न उत्पादक वीवर्स ने कम कीमत पर बुक किए ऑर्डर रद्द कर रहे हैं। इस तरह से मनमाना निर्णय लेने वाले यार्न उत्पादकों के खिलाफ कार्रवाई करने और पन्द्रह दिनों के अंतराल में ही कीमत बढ़ाने या घटाने का निर्णय लागू करने की मांग की।

Ad Block is Banned