क्राइम ब्रांच से जांच करवाने की मांग, पुलिस आयुक्त को सौंपा ज्ञापन

क्राइम ब्रांच से जांच करवाने की मांग, पुलिस आयुक्त को सौंपा ज्ञापन

Sanjeev Kumar Singh | Publish: Sep, 07 2018 01:23:27 PM (IST) Surat, Gujarat, India

नाबालिग पुत्री के अपहरण के बाद माता पिता ने की थी आत्महत्या

सूरत.

पूणागाम से एक किशोरी के अपहरण के मामले में भारतीय कुमावत क्षत्रिय महासभा व प्रजापति प्रगतीशील मंडल ने गुरुवार को शहर पुलिस आयुक्त सतीष शर्मा को ज्ञापन देकर मामले की जांच क्राइम ब्रांच से करवाने की मांग की है। ज्ञापन में बताया गया है कि गत १४ जुलाई को राजस्थान के नागौर जिले के लोढ़ासर निवासी दीपक शर्मा व उसके साथियों ने मिलकर हरीराम प्रजापति की नाबालिग पुत्री का बहला फुसला कर अपहरण कर लिया था।

 

इस संबंध में हरिराम ने १५ जुलाई को शिकायत दर्ज करवाई थी, लेकिन पुलिस उनकी पुत्री का पता नहीं लगा पाई। इस बीच फोन पर प्रताडऩा व रुपए की मांग के चलते हरिराम व उनकी पत्नी भगवती ने १४ अगस्त को आत्महत्या कर ली थी। एक दिन पूर्व उन्हें जो कॉल किया गया था, वह चेन्नई से था। ज्ञापन में मांग की गई है कि इस मामले की क्राइम ब्रांच से मांग करवाकर दोषियों के खिलाफ कार्रवाई की जाए।

 

 

डॉ. दोषी फरार, खोज में जुटी पुलिस, चेक-अप के दौरान विवाहिता से बलात्कार का मामला
सूरत. नानपुरा क्षेत्र के एक निजी अस्पताल में आइवीएफ का उपचार करवा रही विवाहिता के साथ चेक-अप के दौरान बलात्कार की घटना के बाद से आरोपित डॉ. प्रफुल्ल दोषी फरार है। अठवालाइन्स पुलिस ने उसके संभावित ठिकानों की जानकारी जुटा कर उनकी खोज शुरू की है।

 

मामले की जांच एम.आई. वसावा ने बताया कि डॉ. दोषी के नानपुरा स्थित अस्पताल तथा उनके निवास पर टीमें भेजी गई, लेकिन वह नहीं मिले। कर्मचारियों के कहना है घटना के बाद से वे अस्पताल नहीं आए हैं। उनकी पत्नी भी पुलिस को नहीं मिली। बताया जाता है कि वह डॉ. दोषी के साथ ही है और दोनों शहर से बाहर हंै। पुलिस ने घटना को लेकर पीडि़ता को इंजेक्शन लगाने वाली नर्स व अस्पताल के अन्य सभी कर्मचारियों से पूछताछ कर उनके बयान दर्ज किए हैं। हालांकि उनके बयान में क्या जानकारी सामने आई है। इस बारे में पुलिस ने कोई खुलासा नहीं किया है। गौरतलब है कि २८ वर्षीय विवाहिता ने निजी अस्पताल के नामी गायनेकोलॉजिस्ट डॉ. प्रफुल्ल दोषी पर चेक-अप के दौरान बलात्कार का आरोप लगाया था।

 

नहीं मिली रिपोर्ट
पुलिस का कहना है कि बुधवार दोपहर पीडि़ता का न्यू सिविल अस्पताल में मेडिकल करवाया गया है। चिकित्सकों ने जांच के लिए सैम्पल लेकर गायनेक विभाग में भेज दिए हैं। जिनकी रिपोर्ट अभी नहीं मिली है। रिपोर्ट आने पर पुष्टि हो पाएगी कि बलात्कार हुआ है या नहीं। वहीं, फोरेन्सिक विभाग की टीम ने अस्पताल में स्थित डॉ. दोषी के कंसल्टिंग रूप में जहां पीडि़ता के साथ कथित बलात्कार हुआ था। वहां से सैम्पल लिए हैं। इसके अलावा अस्पताल की मेडिकल वेस्ट डस्टबिनों से भी सैम्पल लेकर जांच के लिए फोरेन्सिक लैब में भेज दिया गया है।

 

अंदर नहीं था कैमरा
वसावा ने बताया कि अस्पताल परिसर में जांच कर सीसीटीवी फुटेज लिए गए हैं। डॉ. दोषी के कंसल्टिंग रूम में कैमरा नहीं लगा है। रिसेप्शन, गेट व अन्य स्थानों पर लगेे कैमरों के फुटेज लिए गए हैं। जिनकी पड़ताल की जा रही है।

Ad Block is Banned