प्राथमिक शिक्षकों पर बोर्ड परीक्षा कार्यों का बोझ नहीं डालने की मांग

प्रथमिक शिक्षक संघ ने जिला शिक्षा अधिकारी को दिया ज्ञापन

By: Sanjeev Kumar Singh

Published: 03 Mar 2019, 09:43 PM IST

भरुच.

गुजरात राज्य माध्यमिक एवं उच्चत्तर माध्यमिक शिक्षण बोर्ड द्वारा ली जाने वाली कक्षा 10वीं एवं 12वीं की परीक्षा कार्यों में शामिल होने के लिए प्राथमिक शिक्षकों पर दबाव न डालने की मांग प्राथमिक शिक्षक संघ की ओर से की गई है। प्राथमिक शिक्षक संघ ने इस समस्या को लेकर जिला शिक्षण अधिकारी को ज्ञापन दिया। प्रतिवर्ष बोर्ड की परीक्षा के दौरान लगभग 44 प्राथमिक शिक्षकों को परीक्षा का काम सौंपा जाता है।

 


प्रदेश भर में सात मार्च से 23 मार्च के दौरान बोर्ड की परीक्षा होगी। परीक्षा में अनियमितता न हो और परीक्षा पूरी तरह से तटस्थ वातावरण में संपन्न हो इसके लिए माध्यमिक, उच्चतर और प्राथमिक स्कूल के प्रधानाचार्यों एवं अध्यापकों के साथ अन्य कर्मचारियों की मदद ली जाती है। सरकार की ओर से प्रतिवर्ष की तरह इस बार भी प्राथमिक स्कू लों के प्रधानाचार्यों, अध्यापकों एवं अन्य कर्मचारियों को बोर्ड परीक्षा में डयूटी लगाने के लिए आदेश जारी किया है।

 

सरकार के आदेश के खिलाफ कई जिलों में प्राथमिक शिक्षक संघ की ओर से परीक्षा कार्य नहीं सौंपने के लिए गुहार लगाई गई है। भरुच जिला प्राथमिक शिक्षक संघ ने भी जिला शिक्षण अधिकारी को पत्र भेजकर प्राथमिक शिक्षको की डयूटी बोर्ड परीक्षा में नही लगाने के लिए कहा गया है।

 


भरुच जिला प्राथमिक शिक्षक संघ के महामंत्री प्रदीप सिंह रणा ने कहा कि प्रतिवर्ष आयोजित होने वाली बोर्ड परीक्षा में प्राथमिक स्कूलों के अध्यापकों की ओर से सहयोग दिया जाता है। जिले के 853 प्राथमिक स्कूलों में कुल 4664 शिक्षक हैं, जो शिक्षक स्वैच्छिक रूप से बोर्ड परीक्षा में शामिल होना चाहते हैं। उन्हें ही कार्य सौंपने की बात कही गई है, जो शिक्षक बोर्ड परीक्षा का काम नहीं करना चाहते हैं उन पर अनावश्यक रूप से दबाव नहीं बनाने की बात कही गई है।

Sanjeev Kumar Singh Reporting
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned