ठग उद्यमियों पर लगाम लगाने की गुहार

ठग उद्यमियों पर लगाम लगाने की गुहार

Pradeep Devmani Mishra | Publish: Oct, 11 2018 09:30:21 PM (IST) Surat, Gujarat, India

यार्न उद्यमियों ने पीआई से मांगी मदद

सूरत

टैक्सटाइल इन्डस्ट्री में पिछले कुछ दिनों से कुछ ठग व्यापारियों के कारण व्यापार का माहौल बिगड़ रहा है। उनकी ओर से समय पर पेमेन्ट नहीं आने के कारण कपड़ा उद्यमियों की हालत खराब होती जा रही है। इस सिलसिले में साउथ गुजरात यार्न डीलर्स एसोसिएशन की गुरुवार की बैठक हुई।
नानपुरा के समृद्धि हॉल में आयोजित बैठक में सलाबतपुरा पीआई विनोद चौधरी भी उपस्थित थे। यार्न व्यवसायियों ने उन्हें बताया कि कुछ महीनों से यार्न और कपड़ा उद्योग में कुछ ठग व्यापारियों की घुसपैठ हो गई है, जो पूरे कपड़ा उद्योग का माहौल बिगाड़ रहे हैं। वह समय पर पेमेन्ट नहीं करते और पलायन की घटना होने पर उन्हें माल देने वाले व्यापारियों की बड़ी रकम फंस जाती है। ऐसी घटनाओं के कारण उद्यमियों की आर्थिक सुरक्षा भी खतरे में आ गई है। इसलिए चीटर उद्यमियों पर लगाम लगाने की गुहार की। पीआई चौधरी ने उन्हें आश्वस्त करते हुए ऐसे लोगों के खिलाफ शिकायत दर्ज कराने की सलाह देते हुए पुलिस कार्रवाई करने का आश्वासन दिया। बैठक में यार्न उद्यमी विनय अग्रवाल सहित अन्य कई अग्रणी उद्यमी उपस्थित थे।

उपमुख्यमंत्री से मिला प्रतिनिधिमंडल
चैम्बर ऑफ कॉमर्स के पदाधिकारियों ने गुरुवार को इनपुट टैक्स क्रेडिट के मुद्दे पर उप मुख्यमंत्री नीतिन पटेल से गुहार लगाई। उन्होंने इस बारे में उचित निराकरण का आश्वासन दिया।
चैम्बर के उपप्रमुख केतन देसाई के नेतृत्व में उद्यमियों का एक प्रतिनिधिमंडल गुरुवार को गांधीनगर में उप मुख्यमंत्री पटेल से मिला। प्रतिनिधिमंडल ने सरकार की ओर से इनपुट टैक्स क्रेडिट के सिलसिले में जारी परिपत्र में शैल लैप्स के स्थान पर शैल नॉट बी रिफंडेबल लिखने की मांग की है। केतन देसाई ने कहा कि सूरत समेत दक्षिण गुजरात के वीवर्स की करोड़ों रुपए की टैक्स क्रेडिट फंसी है, यदि वह लैप्स होती है तो उन्हें बहुत नुकसान होगा। इसलिए इस बारे में उचित निराकरण किया जाए। नीतिन पटेल ने वीवर्स को समस्या समाधान का आश्वासन दिया।

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned