डीइओ नहीं मिले, अभिभावक बैठ गए धरने पर

डीइओ नहीं मिले, अभिभावक बैठ गए धरने पर

Mukesh Sharma | Publish: Jul, 13 2018 10:19:17 PM (IST) Surat, Gujarat, India

फीस के विवाद पर स्कूल के निकाले गए विद्यार्थियों के अभिभावकों ने बुधवार को जिला शिक्षा अधिकारी कार्यालय पर धरना दिया। जिला शिक्षा...

सूरत।फीस के विवाद पर स्कूल के निकाले गए विद्यार्थियों के अभिभावकों ने बुधवार को जिला शिक्षा अधिकारी कार्यालय पर धरना दिया। जिला शिक्षा अधिकारी उपस्थित नहीं थे और अभिभावक उनसे मिलने पर अड़े थे। दूसरी ओर स्कूल प्रशासन ने सुरक्षा के लिए बाउंसरों का सहारा लेना शुरू कर दिया है।

शहर की स्कूलों में फीस का विवाद समाप्त नहीं हुआ है। नए शैक्षणिक सत्र की शुरुआत से पहले ही विवाद गहरा गया था। स्कूलों ने फीस नहीं भरने वाले विद्यार्थियों को एलसी थमाकर निकाल दिया है। एस.डी.जैन स्कूल में पिछले दिनों इसको लेकर अभिभावकों ने जमकर हंगामा किया था। पुलिस वहां पहुंच गई थी। हाल ही एक और विद्यार्थी को एलसी थमाने के मामले को लेकर बुधवार को कई अभिभावक शिकायत करने जिला शिक्षा अधिकारी कार्यालय पहुंचे, लेकिन जिला शिक्षा अधिकारी नहीं थे। अभिभावक वहां धरने पर बैठ गए।

जिला शिक्षा अधिकारी ने इस मामले में पहले ही अपना पक्ष साफ कर दिया है कि कई स्कूलों ने अदालत में याचिका दायर की हुई है, इसलिए स्कूल पर किसी तरह की कार्रवाई नहीं की जा सकती। दूसरी ओर एफआरसी का भी कहना है कि स्कूल पर कार्रवार्ई करना उसके अधिकार क्षेत्र में नहीं आता। अभिभावकों का आरोप है कि एक स्कूल ने बाउंसर तैनात कर दिए हैं। इससे पहले भी फीस के मामले में अभिभावकों को स्कूल से दूर रखने के लिए कई स्कूलों ने बाउंसर तैनात किए थे।

गंदे पानी की आपूर्ति पर आयुक्त ने ली क्लास

कहीं सप्लाइ नियमित नहीं तो कहीं कम प्रेशर की शिकायत

मनपा अधिकारियों की मासिक समीक्षा बैठक में आयुक्त एम. थेन्नारसन ने शहर के कुछ इलाकों में हो रही गंदे पानी की आपूर्ति पर अधिकारियों की क्लास ली। उन्होंने हाइड्रोलिक के साथ ही स्वास्थ्य अधिकारियों को भी हालत पर नजर रखने की हिदायत देते हुए शुद्ध पानी की आपूर्ति सुनिश्चित कराने के निर्देश दिए।

शहर में कई दिनों से कुछ इलाकों में गंदे पानी की आपूर्ति हो रही है। इसकी शिकायतें भी अधिकारियों तक पहुंची हैं। कई जगह पानी की आपूर्ति नियमित नहीं है और जहां पानी आ रहा है, वहां प्रेशर कम है। इससे लोगों को जहां पानी के लिए मशक्कत करनी पड़ रही है, दूषित पानी की आपूर्ति से लोग बीमारियों का शिकार हो रहे हैं।

लोगों का कहना है कि मानसून से पहले यह हाल है तो मानसून के दौरान हालात और बिगड़ेंगे। बुधवार को हुई अधिकारियों की समीक्षा बैठक में शहर में गंदे पानी की आपूर्ति का मामला उठा। इस मामले पर आयुक्त ने हाइड्रोलिक और हेल्थ टीम की जमकर क्लास ली। उन्होंने अधिकारियों को हिदायत दी कि समय रहते बिगड़ी हालत को संभाल लिया जाए। जहां भी पाइपलाइन में गड़बड़ी सामने आए, पानी आपूर्ति रोककर लाइनों की मरम्मत कराई जाए। उन्होंने समय-समय पर मरम्मत के काम पर फोकस की हिदायत भी दी। साथ ही, हेल्थ टीम को मानसून से पहले ही संक्रामक रोगों से बचाव के उपाय करने के लिए कहा।

प्री मानसून कामों का रिव्यू

आयुक्त ने शहर में हो रहे प्री मानसून कामों का रिव्यू भी किया। अधिकारियों ने बताया कि स्टॉर्म ड्रेनेज और ड्रेनेज लाइनों की सफाई का पहला चरण पूरा हो चुका है। दूसरे चरण में कुछ क्षेत्रों में काम बाकी रह गया है, जिसे दो-तीन दिन में पूरा कर लिया जाएगा।

Ad Block is Banned