गुलजार हुए हीरा और कपड़ा बाजार

बाजारों में रौनक लौटी, दफ्तरों में होने लगा काम, शर्तों के साथ लोगों ने दुकानें और कारखाने खोले

By: विनीत शर्मा

Updated: 20 May 2020, 08:20 PM IST

सूरत. लॉकडाउन 4 के लिए राज्य सरकार की गाइडलाइन के साथ ही सूरत मनपा का स्टैंडर्ड ऑफ प्रोसीजर (एसओपी) सामने आने के बाद बाजारों में चहल-पहल लौटने लगी है। हीरा और कपड़ा बाजार में भी शर्तों के साथ लोगों ने दुकानें और कारखाने खोल लिए हैं।

देशभर में 18 मई से शुरू हुए लॉकडाउन 4 के लिए केंद्र ने तय मानकों के आधार पर राज्य सरकारों को अपनी स्थिति के मुताबिक व्यवस्था करने की छूट दी थी। इसके बाद गुजरात सरकार ने गाइडलाइन जारी की, जिस पर मनपा प्रशासन ने स्थानीय जरूरतों को देखते हुए एसओपी बनाया है। इसके तहत कंटेन्मेंट जोन में लॉकडाउन को पहले की तरह लागू रखने के साथ ही कंटेन्मेंट के बाहर शर्तों के साथ दुकान और दफ्तर व उद्यम खोलने की छूट दी है।

मंगलवार को मनपा का एसओपी सामने आने के बाद इसका असर बुधवार को दिखने लगा। हीरा कारखानों और कपड़ा बाजार खुलने से रौनक धीरे-धीरे लौटने लगी है। बुधवार को कंटेन्मेंट एरिया के बाहर हीरे के कई कारखाने खुले और कर्मचारी काम पर लौटे। यही हाल टैक्सटाइल मार्केटों का रहा। सारोली सहित कंटेन्मेंट एरिया से बाहर हालांकि अधिकांश कपड़ा दुकानें बंद रहीं, लेकिन कुछ लोगों ने बाजार में बैठने का सिलसिला शुरू किया है। साथ ही दफ्तर और अन्य उद्योग खुलने से सड़कों पर भी हलचल दिखने लगी है।

Corona virus COVID-19 virus
विनीत शर्मा Reporting
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned