DIAMOND NEWS-हीरा उद्योग के लिए फीकी रहेगी दिवाली की चमक

DIAMOND NEWS-हीरा उद्योग के लिए फीकी रहेगी दिवाली की चमक
DIAMOND NEWS-हीरा उद्योग के लिए फीकी रहेगी दिवाली की चमक

Pradeep Devmani Mishra | Updated: 18 Sep 2019, 07:50:02 PM (IST) Surat, Surat, Gujarat, India

इस बार दिवाली वेकेशन भी ज्यादा रहने की आशंका

सूरत
डायमंड सिटी हीरा उद्योग के लिए इस बार दिवाली की चमक फीकी रहेगी। विदेशी बाजार पर आधारित सूरत के हीरा उद्योग में लगातार निर्यात घटने के कारण दिवाली वेकेशन एक सप्ताह पहले शुरू होने और हर साल की अपेक्षा ज्यादा रहने की आशंका हीरा उद्यमी बता रहे हैं।
हीरा उद्योग के सूत्रों का कहना है कि हर साल हीरा उद्यमी दिवाली पर हीरा श्रमिकों को अच्छा वेतन देते थे, लेकिन इस बार वेतन चुकाने के लिए भी जुगाड़ कर रहे हैं। पिछले सालों में गाड़ी, बंगला आदि भी हीरा उद्यमियों ने बोनस दिए हैं, लेकिन इस साल हीरा उद्योग की परिस्थिति डामाडोल है। अमरीका और चीन के बीच चल रहे ड्रेड वॉर के कारण भारत का हीरा उद्योग बुरी तरह से प्रभावित हो रहा है। इसके अलावा सिन्थेटिक हीरों की मांग के मुकाबले नेचुरल हीरों का व्यापार घटा है। इसके अलावा एक बड़ा कारण गोल्ड पर इम्पोर्ट ड्यूटी बढना भी है। क्योंकि गोल्ड पर दस प्रतिशत के स्थान पर 12.5 प्रतिशत इम्पोर्ट ड्यूटी करने से भारत की ज्वैलरी महंगी हो गई है। जेम्स एंड ज्वैलरी एक्सपोर्ट प्रमोशन काउन्सिल की ओर से जारी आंकड़े बताते हैं कि भारत के कट और पॉलिश्ड हीरों के निर्यात में लगातार कमी आ रही है।

मोदी कैबिनेट 2 बड़े फैसले- ई-सिगरेट किया बैन तो रेलवे कर्मचारियों को दिया 78 दिन का बोनस

सितंबर में कट और पॉलिश्ड हीरों का निर्यात 14 प्रतिशत घटा है। इसके पहले अगस्त में भी अंदाजन २४ प्रतिशत की गिरावट आई थी। पिछले एक महीने में ही सूरत के हीरा उद्योग में लगभग एक हजार श्रमिकों को नौकरी से निकाला जा चुका है और एक दर्जन से अधिक हीरा कारखाने बंद हो चुके हैं। जो कारखाने चल रहे हैं वह भी सिर्फ आठ घंटे ही चल रहे हैं। कई बड़़े कारखानों में मजूरी कम करने पर भी विचार चल रहा है। हीरा उद्यमियों का कहना है कि मार्केट में कट और पॉलिश्ड हीरों की डिमांड नहीं होने के कारण अभी भी रफ हीरों की खरीद कीमत की अपेक्षा कम कीमत पर बेचना पड़ रहा है। इसलिए हीरा उद्यमी और उत्पादन कर स्टोक नहीं करना चाह रहे। कुछ हीरा उद्यमियों ने हीरा श्रमिकों की डिमांड पर दिवाली तक हीरा श्रमिकों को नौकरी से नहीं निकालना पड़े इसलिए कारखाने चालू रखे हैं लेकिन वह उत्पादन कम व्यवस्था चला रहे हैं। हीरा उद्योग में सर्जित आर्थिक संकट की समस्या को दूर करने के लिए जैम्स एंड ज्वैलरी एक्सपोर्ट प्रमोशन काउन्सिल सहित कई संस्थाओं ने बैंक से ऋण सरलता से दिलाने की मांग की थी, लेकिन उसका भी कोई नतीजा नहीं आया।
सूरत डायमंड एसोसिएशन के प्रमुख बाबू भाई ने बताया कि इस साल हीरा उद्योग के लिए परिस्थिति चिंताजनक है। पिछले वर्षो की अपेक्षा हीरा उद्योग में मंदी के कारण दिवाली कमजोर रहेगी। इसके बाद यदि दिवाली वेकेशन लंबा रहे तो उत्पादन घटने से हीरा उद्योग को लाभ मिलेगा।

IND vs SA : भारतीय टीम में हार्दिक पांड्या की हुई वापसी, द. अफ्रीका की तरफ से तीन खिलाड़यों ने किया डेब्यू

DIAMOND NEWS-हीरा उद्योग के लिए फीकी रहेगी दिवाली की चमक
खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned