scriptDiamond will jump as soon as you get a chance, shine continues | diamond glittering मौका मिलते ही उछलेगा हीरा, चमक बरकरार | Patrika News

diamond glittering मौका मिलते ही उछलेगा हीरा, चमक बरकरार

वर्ष 2008 की वैश्विक मंदी से बाहर निकल कर साबित कर चुका है अपनी उपयोगिता, डॉमेस्टिक मार्केट में भी बढ़ रही डिमांड

सूरत

Updated: August 02, 2020 05:40:57 pm

विनीत शर्मा

सूरत. हीरा के पुराने ट्रैक रिकार्ड को देखते हुए हीरा उद्यमी निश्चिंत हैं कि यह दौर ज्यादा लंबा नहीं चलने वाला। वे जानते हैं कि हीरे की चमक बरकरार है। मौका मिलते ही हीरा फिर उछलेगा और पुराने हिसाब चुकता हो जाएंगे। लोगों को अब कोरोनाकाल के खत्म होने का इंतजार है।
diamond glittering
diamond glittering
कभी अभिजात्य काया पर सजने वाला हीरा आज हर आम और खास की मुट्ठी में आ गया है। वैश्विक बाजार में हीरे की मांग हमेशा बनी रहती है। यही नहीं बीते करीब एक दशक में डॉमेस्टिक मांग में भी खासा उछाल आया है। वर्ष 2008 की ग्लोबल मंदी में सबसे गहरी चोट हीरे पर पड़ी थी, लेकिन हालात सामान्य होते ही सबसे पहले हीरा चमका।
नोटबन्दी और जीएसटी जैसी अड़चनों ने जहां बाकी कारोबार को फिर मंदी में धकेल दिया था, हीरे की रफ्तार पर ब्रेक नहीं लगा। जानकार इसकी वजह हीरे की अंतरराष्ट्रीय मांग का बना रहना मानते हैं। हीरा कारोबारी भी मानते हैं कि कोरोना के बादल छंटते ही हीरा फिर बाउंस बैक करेगा। उन्हें बस सही अवसर का इंतजार है। हीरा उद्यमियों को चिंता इस बात की है कि जैसे ही कोरोना के बादल छटेंगे, उनके लिए अंतरराष्ट्रीय मार्केट में हीरे की मांग को पूरा करना चुनौतीभरा हो सकता है।
अमेरिका है बड़ा बाजार

अमेरिका हीरा का सबसे बड़ा बाजार है। इसके बाद जापान और हांगकांग हीरे की बड़ी मंडी है, जहां सूरत का हीरा जाता है। जानकारों के मुताबिक जिस दिन अमेरिका, जापान और हांगकांग में स्थितियां सामान्य हो जाएंगी, हीरा कारोबार भी पटरी पर लौट आएगा। इसके समर्थन में जानकार वर्ष 2008 की वैश्विक मंदी का उदाहरण देते हैं। उनके मुताबिक वैश्विक मंदी से अमेरिका उबरा तो हीरा कारोबार भी चल पड़ा था। 2008 जैसी मंदी हीरा कारोबारियों ने अब तक नहीं देखी है।
अप्रेल-मई में लगा था बड़ा झटका

कोरोना संक्रमण का सबसे ज्यादा असर अप्रेल-मई महीने में देखने को मिला था। बीते वर्ष सामान्य परिस्थितियों में अप्रेल से मई के बीच 43.14 लाख कैरेट हीरे का एक्सपोर्ट हुआ था, जो इस बार मई महीने में घटकर महज 5.73 लाख कैरेट ही रह गया था। अनलॉक 1.0 में जब कारखाने खुले और काम शुरू हुआ तो स्थिति थोड़ी संभलती दिखी थी। बीते वर्ष अप्रेल से जून महीने में 65.51 लाख कैरेट हीरा एक्सपोर्ट हुआ था जो इसी अंतराल में इस बार 11.93 लाख कैरेट पर अटक गया है। हालांकि इस वर्ष के अप्रेल से जून तक के संशोधित आंकड़े अभी आने बाकी हैं।
सबसे पहले हीरा चलता है

मंदी हो या कोरोना जब दुनिया इसकी चपेट में आती है तो हीरा भी बचा नहीं रह सकता। लेकिन हीरे की चमक कभी कम नहीं होती। जैसे ही हालात सामान्य होंगे, हीरे की वैश्विक डिमांड भी जोर पकडऩे लगेगी। उस डिमांड को पूरा करने के लिए हमें तैयार रहना होगा।
राजेंद्र देरासरिया, हीरा उद्यमी एवं पूर्व प्रमुख, नवसारी डायमंड मर्चेंट एसोसिएशन, नवसारी

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

Trending Stories

मौसम अलर्ट: जल्द दस्तक देगा मानसून, राजस्थान के 7 जिलों में होगी बारिशइन 4 राशियों के लोग होते हैं सबसे ज्यादा बुद्धिमान, देखें क्या आपकी राशि भी है इसमें शामिलस्कूलों में तीन दिन की छुट्टी, जानिये क्यों बंद रहेंगे स्कूल, जारी हो गया आदेश1 जुलाई से बदल जाएगा इंदौरी खान-पान का तरीका, जानिये क्यों हो रहा है ये बड़ा बदलावNumerology: इस मूलांक वालों के पास धन की नहीं होती कमी, स्वभाव से होते हैं थोड़े घमंडीबुध जल्द अपनी स्वराशि मिथुन में करेंगे प्रवेश, जानें किन राशि वालों का होगा भाग्योदयमोदी सरकार ने एलपीजी गैस सिलेण्डर पर दिया चुपके से तगड़ा झटकाजयपुर में रात 8 बजते ही घर में आ जाते है 40-50 सांप, कमरे में दुबक जाता है परिवार

बड़ी खबरें

Maharashtra Political Crisis: महाराष्ट्र में क्या बन रहे हैं नए सियासी समीकरण? बागी एकनाथ शिंदे ने राज ठाकरे से की फोन पर बातचीतMaharashtra Political Crisis: महाराष्ट्र की सियासी लड़ाई सुप्रीम कोर्ट पहुंची, अयोग्य ठहराने के नोटिस पर शिंदे गुट की याचिका पर आज सुनवाईRajasthan Invest Summit : कांग्रेस शासित राजस्थान में 1.68 लाख करोड़ के निवेश की तैयारी में Rahul Gandhi के 'Double A'जम्मू कश्मीर: अमरनाथ यात्रा से पहले डोडा में पुलिस पर हमले की साजिश रच रहा लश्कर का आतंकी गिरफ्तार, चीनी पिस्तौल बरामदRam Nath Kovind Vrindavan Visit : राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद वृंदावन पहुंचे, सीएम योगी ने किया स्वागत, जानें पूरा कार्यक्रमExclusive Interview: राष्ट्रपति उम्मीदवार यशवंत सिन्हा को किस आधार पर जीत की उम्मीद और क्या बोले आदिवासी महिला के खिलाफ उम्मीदवारी परराष्ट्रपति चुनाव: विपक्ष के उम्मीदवार यशवंत सिन्हा आज नामांकन दाखिल करेंगेभारतीय टीम ने आयरलैंड को पहले टी-20 में 7 विकेट से रौंदा, हार्दिक पांड्या और दीपक हूडा का दमदार प्रदर्शन
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.