रिफंड के आंकड़े भी ज्यादा होने के कारण टार्गेट हासिल करना मुश्किल हो रहा

सूरत में सीआइटी-3 सबसे पीछे

By: Pradeep Mishra

Published: 29 Mar 2019, 08:35 PM IST

सूरत
सूरत आयकर कमिश्नरेट में अभी तक लक्ष्य हासिल करने में सीआइटी-3 पीछे है। सीआइटी-3 को 650 करोड़ रुपए का लक्ष्य दिया गया था। इसके मुकाबले 322 करोड़ रुपए ही वसूले हंै। इस साल रिफंड के आंकड़े भी ज्यादा होने के कारण टार्गेट हासिल करना मुश्किल हो रहा है।

वहीं सीआइटी-1 को 1663 करोड़ रुपए का लक्ष्य मिला था। इसके मुकाबले 1414 करोड़ रुपए वसूल किए हैं। सीआइटी-2 ने 895 करोड़ रुपए के मुकाबले 712 करोड़ रुपए वसूले हैं। बताया जा रहा है कि इस साल रिफंड के आंकड़े भी ज्यादा होने के कारण टार्गेट हासिल करना मुश्किल हो रहा है। पिछले साल सीआइटी-1 में 256 करोड़ रुपए का टार्गेट दिया था, जो कि इस साल 370 करोड़ रुपए है। सीआइटी-2 में 264 करोड़ रुपए रिफंड था जो इस साल 308 करोड़ रुपए रहा और सीआटी-3 में 183 करोड़ रुपए के मुकाबले इस साल 266 करोड़ रुपए पर पहुंच गया। वलसाड सीआइटी में पिछले साल 171 करोड़ रुपए का रिफंड दिया था, जो कि इस साल 208 करोड़ रुपए पहुंच गया।

Pradeep Mishra Reporting
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned