जिला भाजपा ने 12 सदस्यों को किया सस्पेंड

चुनाव के दौरान पार्टी विरोधी गतिविधियों में संलिप्तता का आरोप

By: विनीत शर्मा

Updated: 22 Feb 2021, 06:20 PM IST

बारडोली. सूरत जिला भारतीय जनता पार्टी ने स्थानीय निकाय चुनावों के दौरान पार्टी विरोधी गतिविधियों के लिए 12 सदस्यों को निलंबित कर दिया। सभी सदस्य तीन वर्ष के लिए निलंबित किए गए हैं।

भाजपा ने स्थानीय निकाय चुनाव में 60 वर्ष से अधिक आयु वाले और लगातार तीन टर्म से चुनकर आ रहे सदस्यों को इस बार टिकट नहीं दिया था। इससे कई कार्यकर्ताओं में नाराजगी देखने को मिली थी। कई कार्यकर्ता इस बार चुनाव प्रचार से दूर रहे तो कई ने निर्दलीय या दूसरे दल के टिकट पर चुनाव लडऩे का मन बनाया था। पार्टी के खिलाफ जाकर काम कर रहे कार्यकर्ताओं और नेताओं को लेकर हाइकमान ने सख्त रवैया अपनाया।

सूरत जिला भाजपा प्रमुख संदीप देसाई ने जिले में ऐसे 12 नेताओं को पार्टी से तीन वर्ष के लिए निलंबित कर दिया, जिनकी संलिप्तता पार्टी विरोधी गतिविधियों में देखने को मिली। बारडोली तहसील पंचायत में पिछले टर्म में शासक पक्ष के नेता रहे दिनेश रत्न पटेल ने टिकट नहीं मिलने पर वांकानेर जिला पंचायत सीट से भाजपा के पूर्व महामंत्री भावेश पटेल के खिलाफ और बाबेन एक तहसील पंचायत सीट से निर्दलीय पर्चा भरा है। इनके साथ ही तहसील के दीपक कालिदास सोलंकी को भी सस्पेंड किया गया है। बारडोली नगरपालिका के पूर्व कारोबारी अध्यक्ष राजेश सुमन कायस्थ को भी टिकट नहीं मिलने पर बगावत करने पर निलंबित किया गया।

इसके अलावा कड़ोदरा नगरपालिका के पूर्व पार्षद संजय मिथिलेश शर्मा, योगेश पटेल, महुवा तहसील के नरेंद्र देवदत्त पटेल और गीता नरेंद्र पटेल को भी सस्पेंड कर दिया गया। मांडवी नगर पालिका के मनीष पीयूष शाह, तरसाडी नगर से अफजल अली पटेल व अजयसिंह मधुसिंह चौहाण, ओलपाड से सन्मुख ढीम्मर और मांडवी से जयश्री राजू चौधरी को भी पार्टी विरोधी गतिविधि के लिए निलंबित किया गया है।

विनीत शर्मा Reporting
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned