scriptDoctors saved the life of a woman who became serious due to excessive | प्रसूति के बाद अधिक रक्तस्राव से गंभीर हुई महिला की डॉक्टरों ने जान बचाई | Patrika News

प्रसूति के बाद अधिक रक्तस्राव से गंभीर हुई महिला की डॉक्टरों ने जान बचाई

- 41 दिन तक चला इलाज, 20 दिन वेंटिलेटर पर और 17 ब्लड कंपोनेंट चढ़ाने से तबीयत में आया सुधार

सूरत

Published: July 29, 2021 09:39:39 pm

सूरत.

महाराष्ट्र नंदूरबार निवासी एक गर्भवती महिला की प्रसूति के बाद रक्तस्राव नहीं रुकने के कारण चिकित्सकों ने उसकी बच्चेदानी निकालने का ऑपरेशन किया। बाद में महिला को गंभीर हालत में न्यू सिविल रेफर किया। गया। न्यू सिविल में गायनेक विभाग के चिकित्सकों आइसीयू में 41 दिन तक लम्बे इलाज के बाद उसकी जान बचा ली। परिजनों ने अस्पताल से छुट्टी मिलने पर बुधवार को चिकित्सकों को फूल देकर और मिठाई खिलाकर खुशी मनाई।
प्रसूति के बाद अधिक रक्तस्राव से गंभीर हुई महिला की डॉक्टरों ने जान बचाई
प्रसूति के बाद अधिक रक्तस्राव से गंभीर हुई महिला की डॉक्टरों ने जान बचाई
न्यू सिविल अस्पताल में गायनेक विभाग के असिस्टेंट प्रोफेसर डॉ. केदार त्रिवेदी ने बताया कि 18 जून को नंदूरबार के निजी अस्पताल से एक गर्भवती महिला प्रसूति के बाद अधिक रक्तस्राव के चलते गंभीर स्थिति में रेफर होकर आई थी। चिकित्सकों ने उसे गायनेक विभाग के आइसीयू में भर्ती कर इलाज शुरू किया। उन्होंने बताया कि गर्भवती महिलाओं में प्रसूति के बाद अधिक रक्तस्राव सबसे अधिक माताओं में मौत का कारण बनते हैं। पीपीएच से पीडि़त गंभीर शिरीन जाफर शेख (24) को करीब 36 दिन आइसीयू में भर्ती रखा गया। इसमें 20 दिन वेंटिलेटर पर, वाजो प्रेशर सपोर्ट पर 14 दिन और अलग-अलग 17 ब्लड कंपोनेंट चढ़ाने के बाद शिरीन की तबीयत में सुधार शुरू हो गया।
शिरीन के 41 दिन बाद अस्पताल से छुट्टी मिलने पर नंदूरबार से आए परिजनों तथा इंसाफ फाउंडेशन संस्था की ओर से चिकित्सकों को सम्मानित किया गया। डॉ. केदार ने बताया कि पीपीएच मामले में मृत्युदर अधिक होती है। लेकिन न्यू सिविल अस्पताल के एसोसिएट प्रोफेसर डॉ. अंजनी श्रीवास्तव, डॉ. फाल्गुनी पटेल के मार्गदर्शन में रेजिडेंट डॉ. बिंदिया, डॉ. द्धितीया, डॉ. मिरल, डॉ. वृंदा, डॉ. मनन की टीम ने शिरीन का इलाज किया।

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

Trending Stories

कोरोना: शनिवार रात्री से शुरू हुआ 30 घंटे का जन अनुशासन कफ्र्यूशाहरुख खान को अपना बेटा मानने वाले दिलीप कुमार की 6800 करोड़ की संपत्ति पर अब इस शख्स का हैं अधिकारजब 57 की उम्र में सनी देओल ने मचाई सनसनी, 38 साल छोटी एक्ट्रेस के साथ किए थे बोल्ड सीनMaruti Alto हुई टॉप 5 की लिस्ट से बाहर! इस कार पर देश ने दिखाया भरोसा, कम कीमत में देती है 32Km का माइलेज़UP School News: छुट्टियाँ खत्म यूपी में 17 जनवरी से खुलेंगे स्कूल! मैनेजमेंट बच्चों को स्कूल आने के लिए नहीं कर सकता बाध्यअब वायरल फ्लू का रूप लेने लगा कोरोना, रिकवरी के दिन भी घटेCM गहलोत ने लापरवाही करने वालों को चेताया, ओमिक्रॉन को हल्के में नहीं लें2022 का पहला ग्रहण 4 राशि वालों की जिंदगी में लाएगा बड़े बदलाव

बड़ी खबरें

World Economic Forum 2022: दावोस एजेंडा के शिखर सम्मेलन में बोले पीएम मोदी, भारत बना दुनिया का तीसरा सबसे बड़ा फार्मा प्रोड्यूसरयूएई के अबू धाबी एयरपोर्ट पर बड़ा हमला, दो भारतीयों समेत तीन की मौतवैक्सीनेशन को लेकर बड़ा ऐलान, 12 से 14 साल तक के बच्चों को मार्च से लगेंगे टीकेPunjab Election 2022: पंजाब में चुनाव की तारीख टली, अब 20 फरवरी को होगी वोटिंग'किसी को जबरदस्ती नहीं लगाई कोरोना वैक्सीन ', केंद्र ने सुप्रीम कोर्ट में बतायाविधायक ने खड़े होकर कराई सड़कों की जांच, नमूने रखवा दिए एसडीएम ऑफिस मेंआखिर क्या है दलबदल कानून और क्यों पड़ी इसकी जरूरत, जानिए सब कुछऐसा क्या हुआ की सीएम योगी आदित्यनाथ का यह कैबिनेट मंत्री वर्षों बाद अचानक छानने लगे जलेबी
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.