शिक्षा से ही देश का भविष्य उज्ज्वल : शिक्षामंत्री चुडासमा

Sandip Kumar N Pateel

Publish: Jun, 14 2018 09:38:34 PM (IST)

Surat, Gujarat, India
शिक्षा से ही देश का भविष्य उज्ज्वल : शिक्षामंत्री चुडासमा

सूरत और तापी जिले में शाला प्रवेशोत्सव प्रारंभ, सरस्वती साधना योजना के तहत छात्राओं को साइकिल वितरित

बारडोली. सूरत और तापी जिले में गुरुवार से शाला प्रवेशोत्सव कार्यक्रम शुरू हुआ। बारडोली तहसील के अस्तान और वराड गांव की स्कूल से शिक्षामंत्री भूपेन्द्रसिंह चुडासमा और तापी जिले की वालोड तहसील के कमालछोड़ और विरपोर गांव की शाला में केबिनेट मंत्री गणपत वसावा ने प्रवेशोत्सव कार्यक्रम का शुरुआत किया। अस्तान गांव की सार्वजनिक विद्या मण्डल संचालित अस्तान कन्या विद्यालय में प्रवेशोत्सव कार्यक्रम में शिक्षामंत्री भूपेन्द्रसिंह चूड़ासमा ने कहा कि बच्चे पढ़ेंगे तो ही देश का भविष्य उज्ज्वल होगा। उन्होंने अभिभावकों से बच्चों को स्कूल में प्रवेश कराने की अपील की।


बारडोली के अस्तान और वराड गांव में कक्षा पहली में 26 बच्चों का नामांकन किया, जबकि 344 छात्रा व 112 छात्र का कक्षा 9वीं में प्रवेश कराया गया। बारडोली के अस्तान गांव की सार्वजनिक विद्या मण्डल द्वारा संचालित अस्तान कन्या विद्यालय में आयोजित कार्यक्रम में शिक्षामंत्री चूड़ासमा ने कहा कि बच्चे पढ़ेंगे तो ही देश का भविष्य उज्ज्वल होगा। पढ़ाई कर रहे बच्चे को बीच से उठााने वाले माता-पिता सामाजिक पाप कर रहे हैं। उन्होंने अभिभावकों से इस तरह का पाप नहीं करने का अनुरोध किया। कक्षा पहली में प्रवेश करने वाला प्रत्येक बच्चा 12वीं तक पढ़ाई करें ऐसा संकल्प लेने की अपील की। इस अवसर पर भामाशाह नाथु पटेल, हर्षत पटेल और शांताबेन को शिक्षामंत्री ने सम्मान किया गया। कार्यक्रम के दौरान मंत्री ने छात्रों को आने-जाने के लिए स्कूल वैन का भी उद्घाटन किया। साथ ही छात्राओं को सरस्वती साधना योजना के तहत साइकिल वितरण किया गया। इस मौके पर मंत्री स्कूल परिसर में पौधरोपण भी किया। वराड के पास आयोजित आरएमएसए तालिमर्थियों को मार्गदर्शन दिया।


उधर, तापी जिला मे वन एवं आदिजाति मंत्री गणपत वसावा ने वालोड तहसील की कमालछोड़ और विरपोर गांव की शाला में कक्षा पहली के 42 छात्रों का नामांकन करवाया, जबकि कक्षा 9वीं में 349 छात्रों का प्रवेश करवाया। इस अवसर पर मंत्री वसावा ने कहा कि शिक्षा को गति देने के लिए राज्य सरकार की ओर से कई प्रयास किए जा रहे है। पूर्व में शाला के कच्चे मकान और खुले में ही बच्चे पढ़ाई करते थे। सरकार की दीर्घदृष्टी के कारण ही आज शालाओं मे अत्याधुनिक सुविधाएं उपलब्ध हो सकी है। इस अवसर पर छात्राओं को साइकिल वितरण और तेजस्वी छात्रों को पुरस्कृत कर सम्मानित किया गया।

डाउनलोड करें पत्रिका मोबाइल Android App: https://goo.gl/jVBuzO | iOS App : https://goo.gl/Fh6jyB

Ad Block is Banned