ELECTION : पुलिस के पहरे में हुए छात्रसंघ चुनाव..!

ELECTION : पुलिस के पहरे में हुए छात्रसंघ चुनाव..!
ELECTION : पुलिस के पहरे में हुए छात्रसंघ चुनाव..!

Divyesh Kumar Sondarva | Updated: 11 Oct 2019, 08:49:03 PM (IST) Surat, Surat, Gujarat, India

- एनएसयूआइ का 51 तो एबीवीपी का 45 पदों पर जीत का दावा

सूरत.

वीर नर्मद दक्षिण गुजरात विश्वविद्यालय के कई महाविद्यालयों में शुक्रवार को हुए महासचिव पद के चुनाव को लेकर एनएसयूआइ और एबीवीपी ने अपनी-अपनी जीत का दावा किया है। दोनो संगठनों ने विश्वविद्यालय के विभागों में जीते महासचिवों को भी अपना कार्यकर्ता बताया है।

विश्वविद्यालय संबंद्ध कई महाविद्यालयों में शुक्रवार को महासचिव पद के चुनाव हुए। विश्वविद्यालय परिसर में कई विभागों के भी चुनाव हुए। चुनाव में किसी तरह की गड़बड़ी न हो, इसलिए महाविद्यालयों में पहले से पुलिस तैनात थी। चुनाव के बाद एनएसयूआइ और एबीवीपी के कार्यकर्ताओं ने महाविद्यालयों के बाहर ढोल-नगाड़े बजाकर और पटाखे फोडक़र जीत का जश्न मनाया। दोनों संगठनों की ओर से अधिक से अधिक महाविद्यालयों में जीत हासिल करने का दावा किया गया।

ELECTION : अपहरण के डर से जारी नहीं किए गए उम्मीदवारों के नाम..!

सार्वजनिक एज्युकेशन सोसायटी संचालित अठवा लाइंस के केपी, एमटीबी, पीटी साइंस, एसपीबी, बीआरसीएम, वीटी चौकसी कॉलेज, जे.जेड शाह, आर.वी.पटेल, नवयुग साइंस, नवयुग कॉमर्स, सरस्वती महाविद्यालय, जे.एन.पंडया, उधना सिटीजन, रामकृष्ण सार्वजनिक, एम.वी.पटेल, उत्तर बुनियाद, विवेकानंद कॉलेज के साथ कई महाविद्यालयों में महासचिव पद के चुनाव हुए। दक्षिण गुजरात के कई महाविद्यालयों में भी शुक्रवार को चुनाव हुए। प्राचार्य संघ ने पुलिस कमिश्नर से सुरक्षा बंदोबस्त की मांग की थी। इसके आधार पर पुलिस कमिश्नर ने अधिसूचना जारी कर बाहर के व्यक्तियों के कॉलेज में प्रवेश पर रोक लगा दी थी। शुक्रवार को कॉलेजों के बाहर पुलिस का कड़ा पहरा नजर आया। एनएसयूआइ की ओर से जारी प्रेस नोट में महाविद्यालयों और विभागों को मिलाकर 51 पदों पर जीत हासिल करने का दावा किया गया है, जबकि एबीवीपी की ओर से महाविद्यालयों और विभागों में 45 पद जीतने का दावा किया गया है।

ELECTION : नामांकन के बहाने भरी जा रही जेब..!

एमटीबी कॉलेज में विवाद
एमबीटी कॉलेज में चुनाव के दौरान एनएसयूआइ और एबीवीपी के बीच विवाद हो गया। एक उम्मीदवार के क्रॉस वोटिंग करने और अपना नाम वापस खींचने की चर्चा ने तूल पकड़ा। इसको लेकर देर तक विवाद चलता रहा। विवाद निपटाने के लिए कॉलेज प्रशासन की मांग पर पुलिस कॉलेज परिसर में पहुंच गई।

Show More
खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned