कोरोना संक्रमण के बीच विद्यार्थियों में जगी उम्मीद...

- वीएनएसजीयू ने बीएससी और बीए सेमेस्टर-५ का परिणाम जारी किया

- कोरोना के कारण कई विद्यार्थियों की उत्तर पुस्तिका नहीं हो पाई जमा, परिणाम रुका

 

By: Divyesh Kumar Sondarva

Published: 29 Apr 2021, 09:36 PM IST

सूरत.

वीर नर्मद दक्षिण गुजरात विश्वविद्यालय (वीएनएसजीयू) के विभिन्न संकाय के विद्यार्थियों में परिणाम को लेकर उम्मीद जगी है। वीएनएसजीयू ने बीएससी और बीए सेमेस्टर-५ के विद्यार्थियों का परिणाम वेबसाइट पर जारी कर दिया है। कोरोना के कारण कई विद्यार्थियों की उत्तर पुस्तिका जमा नहीं हो पाई है। ऐसे विद्यार्थियों का परिणाम बाद में जारी करने का आश्वासन दिया गया है। फिलहाल, कोरोना संक्रमण के कारण विश्वविद्यालय ने अपनी सारी परीक्षाएं स्थगित कर दी है और मार्च- अप्रेल की परीक्षा के बिना ही विद्यार्थियों को

ऊपरी कक्षा की पढ़ाई शुरु कर देने का विश्वविद्यालय ने आदेश जारी किया है। इस आदेश को लेकर सभी महाविद्यालय असमंजस की स्थिति में हैं। सभी दिसम्बर-जनवरी में ली गई परीक्षा के परिणाम की मांग करने लगे। लेकिन कोरोना के चलते विश्वविद्यालय ५० प्रतिशत स्टाफ से ही काम चल रहा है। इसलिए परिणाम में विलंब हो रहा है। विद्यार्थियों ने कोरोना के कारण परिणाम समय पर जारी होने की उम्मीद छोड़ दी थी। इस बीच विश्वविद्यालय ने बीएससी, बीए सेमेस्टर ५ का परिणाम बुधवार देर शाम वेबसाइट पर जारी कर दिया है।

ऐसे रहे परिणाम :
बीएससी सेमेस्टर-५ का परिणाम ७५.५५ प्रतिशत जारी हुआ है। इसमें ५०७२ विद्यार्थी पास और १३१४ विद्यार्थी फेल हुए हैं। १३ विद्यार्थियों के परीक्षा फॉर्म विड्रा हुए हैं और २७४ विद्यार्थियों का परिणाम बाद में जारी किया जाएगा। ३४ विद्यार्थी ऐसे हैं जिनका परिणाम सुरक्षित रखा गया है। बीए सेमेस्टर-५ का कुल परिणाम ७९.६० प्रतिशत आया है। ७२५५ विद्यार्थी पास और ७९६ विद्यार्थी फेल हुए है। ६९ विद्यार्थियों का परीक्षा फॉर्म विड्रा हुए हैं और ८८१ विद्यार्थियों का परिणाम बाद में जारी किया जाएगा।

- उत्तर पुस्तिका नहीं, परिणाम भी नहीं:
कोरोना के कारण विश्वविद्यालय ने प्राध्यापकों को घर पर उत्तर पुस्तिका जांचने की सुविधा प्रदान की है, लेकिन कई प्राध्यापकों ने उत्तर पुस्तिका जांच कर समय पर वापस जमा नहीं की है। इस कारण कई विद्यार्थियों का परिणाम जारी नहीं हो पाया है। ऐसे प्राध्यापकों को तुरंत उत्तर पुस्तिका जमा करने का आदेश देने की मांग हो रही है।

वीएनएसजीयू में कोरोना का भय
वीएनएसजीयू परिसर में कोरोना का भय फैल गया है। ज्यादातर विभागों के प्राध्यापक व कर्मचारी कोरोना की चपेट में आ चुके हैं। कई कर्मचारियों की कोरोना से मौत भी हो गई है। इसलिए ५० प्रतिशत कर्मचारियों से ही कार्य हो रहा है। इस वजह से विवि में आने वालों पर भी रोक लगा रखी है।

अन्य विद्यार्थियों में परिणाम की आस :

बीएससी-बीए का परिणाम जारी होने पर अन्य पाठ्यक्रम के विद्यार्थियों को उम्मीद है कि उनका परिणाम भी जल्द जारी हो पाएगा। उधर, विश्वविद्यालय प्रशासन भी कम कर्मचारियों के बीच अन्य परिणाम जल्द जारी करने के लिए कमर कस रहा है।

Divyesh Kumar Sondarva Reporting
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned