इस बीच पर कुछ ऐसा है खास कि वीकेंड पर उमड़ पड़ते हैं टूरिस्ट

वलसाड जिले और इसके आसपास कई प्रसिद्ध पर्यटक स्थल हैं। इनमें कई अनूठे मंदिर भी हैं। कोरोना के कारण भले ही अभी इन स्थलों पर सन्नाटा पसरा है पर आम दिनों में यहां हजारों लोग आते हैं। शहर के स्वामीनारायण मंदिर, साई मंदिर पारनेरा समेत कई जगहों पर टूरिस्टों का आना-जाना लगा रहता है।

By: deepak deewan

Published: 09 Jun 2021, 08:43 PM IST

वलसाड. वलसाड जिले और इसके आसपास कई प्रसिद्ध पर्यटक स्थल हैं। इनमें कई अनूठे मंदिर भी हैं। कोरोना के कारण भले ही अभी इन स्थलों पर सन्नाटा पसरा है पर आम दिनों में यहां हजारों लोग आते हैं। शहर के स्वामीनारायण मंदिर, साई मंदिर पारनेरा समेत कई जगहों पर टूरिस्टों का आना-जाना लगा रहता है।

इन जगहों पर करीब दो - तीन माह से कोरोना के कारण लोगों की स्थिति खराब है। हमेशा चहल पहल रहने वाली इन जगहों पर सन्नाटा है। इससे वहां लारी गल्ला लगाकर रोजी रोटी प्राप्त करने वालों की हालत भी खराब हो रही है। रोजगार नहीं होने से आर्थिक स्थिति डांवाडोल हो रही है। लोग इन स्थानों पर भी कोरोना गाइडलाइन के साथ घूमने की छूट दिए जाने की मांग कर रहे हैं जिससे उनकी रोजगार चल सके।

हालांकि पिछले कुछ दिनों से कोरोना का संक्रमण कम होने से लॉकडाउन में ढील मिलने पर दुकानें खुल रही हैं। लेकिन प्रशासन अभी पर्यटन स्थलों को खोलने के मूड में नहीं है। भीड़ बढऩे और बाहर के लोगों के आने से संक्रमण की आशंका के कारण प्रशासन सख्ती बरत रहा है।

यहां का तिथल बीच तो टूरिस्टों की पहली पसंद रहता आया है। देश के अन्य प्रसिद्ध बीच की तुलना में तिथल ज्यादा साफ-सुथरा है और यहां महंगाई भी अपेक्षाकृत कम है। यहीं कारण है कि बीच और यहां के प्रसिद्ध मंदिर तथा अन्य पर्यटन स्थलों पर सामान्य दिनों में रोजाना सैकड़ों लोग आते थे। वीेकेंड यानि शनिवार और रविवार को तो यहां हजारों लोग यहां पहुंचते थे।

deepak deewan
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned