दमण के किसान आने वाले समय में कुछ इस तरह करेंगे खेती

दमण के किसान आने वाले समय में कुछ इस तरह करेंगे खेती

Sandip Kumar N Pateel | Publish: Sep, 08 2018 01:36:07 PM (IST) Surat, Gujarat, India

किसानों को जैविक खेती के प्रशिक्षण कार्यक्रम का आरंभ , तीन साल तक चलने वाले कार्यक्रम में दमण के 1157 किसानों को शामिल किया गया

दमण. दमण कृषि विभाग की ओर से परंपरागत कृषि विकास योजना के तहत किसानों को जैविक खेती के लिए प्रशिक्षण दिया गया। मोटी दमण झरी में आयोजित कार्यक्रम कृषि सचिव मिहिर वर्धन ,कृषि अधिकारी अभिलाषा अग्रवाल, मार्क एग्री से शक्तिजीत तथा अन्य लोग उपस्थित थे।

 

कृषि सचिव आर.मिहीर वर्धन ने बताया कि भारत देश जैविक खेती की तरफ बढ रहा है और दमण दीव के किसानों को भी जुडऩा चाहिए। कृषि अधिकारी अभिलाषा अग्रवाल ने बताया कि दमण के किसान भी जैविक खेती की ओर मुड़े इस लिए प्रशिक्षण शिविरों का आयोजन किया जा रहा है और मोटी दमण से इसकी शुुरुआत कि गई है। इसके लिए 22 कलस्टर बनाए गए है और 1157 किसानों को इसमें शामिल किया है। आगामी तीन वर्ष तक प्रशिक्षण दिया जाएगा। इसके लिए मार्क एग्री जनेरिटस कंपनी के साथ समझौता किया गया है, जो किसानों को प्रशिक्षित करेगी। प्रशिक्षित किसान अपने उत्पाद को ऑनलाइन मार्केट में भी बेच सकेंगे और इसके लिए मार्ग एग्री कंपनी की ओर से उन्हें प्रमाणपत्र दिया जाएगा। इस अवसर पर िकिसानों को जैविक खेती के लिए किट का वितरण भी किया गया।

 

भीमपोर में गौवंश के अवशेष मिलने से आक्रोश


दमण.दमण के भीमपोर क्षेत्र में गुरुवार रात खुली जगह से गौवंश के अवशेष मिलने से लोगों में आक्रोश फैल गया। घटना को लेकर दमण पुलिस ने जांच शुरू कर दी है।


दमण गौरक्षा मंच के अध्यक्ष मनोज बगान ने बताया कि गुरुवार रात भीमपोर वाकड विस्तार में बछडा घायल हालत में पड़ा होने की सूचना पर वह मौके पर पहुंचे और बछड़े को गौशाला ले जा रहे थे, तभी अन्य एक व्यक्ति ने सूचना दी कि भीमपोर लालुभाई पटेल घर के निकट पांचाल इंडस्ट्रीयल क्षेत्र में गौवंश के अवशेष पड़े हुए है। मौके पर जाकर देखा तो गौवंश के अवशेष बिखरे पड़े हुए थे। इसकी जानकारी उन्होंने पुलिस को दी तो पुलिस भी मौके पहुंच गई। पुलिस ने अवशेष के नमूने एफएसएल जांच के लिए भेज दिए है।

Ad Block is Banned