छूट के दौरान भी कम ही निकले बाहर

किराने की अधिकांश दुकानें बंद, मॉल्स में भी सख्त रही व्यवस्थाएं

By: विनीत शर्मा

Updated: 24 Mar 2020, 11:52 PM IST

सूरत. कुछ पुलिस की सख्ती और कुछ कोरोना को लेकर मन में बैठा डर ही था कि राशन और सब्जी आदि की खरीद के लिए मिली छूट के दरम्यान भी कम लोग ही बाहर निकले। इस दौरान कई इलाकों में किराने की दुकानें भी एक-दो ही खुली मिलीं। मॉल्स में भी लोगों के प्रवेश को लेकर व्यवस्थाएं सख्त रहीं, जिससे लोगों ने अपनी जरूरतों को सीमित रखना बेहतर समझा।

कोरोना संक्रमण के प्रसार को बाधित करने के लिए सूरत समेत प्रदेशभर में लॉकडाउन है। स्थानीय प्रशासन ने लोगों की दैनिक जरूरतों को देखते हुए दिन में १२ से ४ बजे तक चार घंटे के लिए निकलने की छूट दी है। मंगलवार सुबह पुलिस के सख्त रुख को देखने के बाद और कोरोना को लेकर दुनियाभर में चल रही खबरों से मन में बैठे डर का असर था कि लोग छूट के इस समय में भी कम ही बाहर निकले।

किराना संचालकों में भी अधिकांश ने इस छूट के बावजूद अपनी दुकानें बंद रखीं। कहीं कोई इक्का-दुक्का दुकान खुली मिली तो उस पर भी लोगों की आवाजाही काफी कम रही। मॉल्स में भी लोगों की भीड़ काफी कम रही। मॉल्स में संचालकों ने अपने तरीके से व्यवस्थाओं में बदलाव किया था। अधिकांश मॉल्स में आने वाले लोगों को टोकन बांटे जा रहे थे। इन पाबंदियों को देख कई लोग तो बाहर से ही वापस लौट गए। इस कारण वहां भी लोगों का दबाव काफी कम रहा। जानकार इस स्थिति को बेहतर मान रहे हैं। उनके मुताबिक लोग जितना घरों में रहेंगे कोरोना का तीसरे चक्र में प्रवेश बाधित किया जा सकेगा। कोरोना का सामुदायिक प्रवेश स्थितियों को और गंभीर बना सकता है।

विनीत शर्मा Reporting
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned