आखिर 60 घंटे बाद मऊ स्टेशन पर पहुंची श्रमिक स्पेशल ट्रेन

कानपुर स्टेशन पर यात्रियों ने किया हंगामा
वापी से मऊ स्टेशन का सफर अमूमन 30 घंटे का


Commuters created ruckus at Kanpur station
Travel from Maui to Mau station is generally 30 hours.

By: Sunil Mishra

Updated: 23 May 2020, 08:55 PM IST

वापी. बुधवार रात श्रमिकों को लेकर रवाना हुई विशेष ट्रेन आखिरकार करीब 60 घंटे बाद शनिवार को उत्तर प्रदेश के मऊ स्टेशन पर पहुंची। वहां पहुंचकर यात्रियों ने राहत की सांस ली। यहां तीसरे दिन यात्रियों को खाने के लिए पूड़ी और अचार दिया गया। इससे लोगों को कुछ राहत मिली।
मालूम हो कि वापी से मऊ स्टेशन का सफर अमूमन 30 घंटे का है। लेकिन श्रमिकों को लेकर रवाना हुई यह ट्रेन 60 घंटे बाद मऊ पहुंची। इस दौरान यात्रियों को वापी में यात्रा की शुरूआत में खाना दिया गया था और उसके बाद उन्हें गुरुवार सुबह पोहा के नाश्ते के अलावा कुछ नहीं मिला। यात्रियों का आरोप है कि उन्हें पानी भी नसीब नहीं हुआ।

Must Read Related News

https://www.patrika.com/surat-news/train-journey-back-home-is-not-less-than-a-nightmare-6126134/

https://www.patrika.com/surat-news/traveler-arrived-at-the-station-not-a-train-3530604/

https://twitter.com/GaonConnection/status/1264212195514224640?s=20

आखिर 60 घंटे बाद मऊ स्टेशन पर पहुंची श्रमिक स्पेशल ट्रेन

कानपुर जंक्शन पर ट्रेन के पहुंचने के बाद हंगामा किया

बेहाल यात्रियों ने इसके खिलाफ शुक्रवार रात करीब साढ़े आठ बजे कानपुर जंक्शन पर ट्रेन के पहुंचने के बाद हंगामा भी किया। यात्रियों ने ट्रेन का रूट बदलने का कारण भी पूछा, लेकिन कोई जवाब नहीं दिया गया। भोजन और पानी को लेकर हंगामा करने के बाद भी यात्रियों को कुछ नहीं दिया गया। किसी तरह ट्रेन शनिवार सुबह करीब साढ़े नौ बजे अपने गंतव्य स्थान मऊ स्टेशन पर पहुंची। जहां यात्रियों की डॉक्टरी जांच की गई और वहां से बाद में उनके गृह जिले की बस में रवाना किया गया। वहीं, इस प्रक्रिया में दोपहर बीत गई। इससे देर शाम तक बहुत से यात्री घर नहीं पहुंच पाए थे।
इस बारे में ट्रेन से यात्रा करने वाले शिवजीत यादव ने बताया कि मऊ स्टेशन पर उन्हें खाने में पूड़ी और अचार दिया गया। उसके साथ यात्रा करने वाले उदयभान ने कहा कि जिस मुश्किल हालात में सफर पूरा किया है वह जीवन भर नहीं भूलेंगे। यहां पहुंचने पर भी काफी देर तक डॉक्टर के न आने से बहुत परेशानी हुई।

Sunil Mishra Desk
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned