वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए कठोर कोर्ट में पहली तलाक याचिका दायर

दंपति का साथ रहना संभव नहीं है यह जानकर कोरोना काल में जब कोर्ट बंद है उस दौरान भी दोनों ने आपसी संमति से तलाक याचिका दायर करने का निर्णय किया

By: Sandip Kumar N Pateel

Published: 05 Jul 2020, 12:02 AM IST

सूरत. कोरोना काल में अलग रह रहे किसी पति-पत्नी की आपसी संमति के साथ पहली बार कठोर कोर्ट में वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए पहली बार तलाक याचिका दायर हुई।

जिले के अंत्रोली गांव निवासी अंजली की शादी वर्ष 2012 में दाहोद निवासी राजेश के साथ हुई थी। उन्हें एक पुत्र है। शादी के बाद दंपति न्यूजिलैंड रहने चला गया, लेकिन यहां उनके बीच झगड़े और मनमुटाव होने लगा। वर्ष 2018 से दोनों अलग रहने लगे। भारत लौटने के बाद अंजली ने अधिवक्ता प्रीति जोशी के जरिए घरेलु हिंसा अधिनियम के तहत कोर्ट में पति के खिलाफ शिकायत की थी, जिसके चलते राजेश के भाई ने दंपति के बीच समझौते के प्रयास किए, लेकिन विफल रहे। दोनों का साथ रहना संभव नहीं है यह जानकर कोरोना काल में जब कोर्ट बंद है उस दौरान भी दोनों ने आपसी संमति से तलाक याचिका दायर करने का निर्णय किया। इसके बाद पत्नी अंजली की ओर से अधिवक्ता जोशी ने ई-फाइलिंग के जरिए कोर्ट के समक्ष तलाक याचिका पेश की। कठोर कोर्ट के न्यायाधीश ने टी.एच.दवे ने शुक्रवार को जूम एप्लिकेशन के जरिए पति-पत्नी के बयान दर्ज किए और उनकी समंति के बाद याचिका को सुनवाई के लिए दाखिल कर लिया।

Sandip Kumar N Pateel Reporting
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned