HIGH ALERT जिले के पांच टापुओं पर लोगों के प्रवेश पर लगी रोक

समुद्र मार्ग से जिले के टापुओं में प्रवेश कर सकते हैं आतंकवादी, आतंकवादी प्रवृत्ति की आशंका को लेकर सर्तक हुई पुलिस

By: विनीत शर्मा

Updated: 10 Jan 2021, 07:25 PM IST

भरुच. भरुच जिले में असामाजिक तत्वों के किसी आपराधिक घटना को अंजाम दिए जाने की आशंका को देखते हुए पुलिस प्रशासन सर्तक हो गया है। जिला प्रशासन ने सार्वजनिक आदेश जारी कर टापुओं पर प्रवेश प्रतिबंधित करने के साथ ही कई अन्य पाबंदियां लागू क हैं।

असामाजिक तत्वों के समुद्र मार्ग से आकर आीिलयाबेट टापू समेत नर्मदा नदी में बने टापुओं पर आकर आतंकी वारदात को अंजाम देने के इनपुट मिले हैं। इसके बाद प्रशासन ने जिले के पांच टापुओं पर अधिकृत अधिकारी की पूर्व मंजूरी लिए बिना प्रवेश पर प्रतिबंध लगा दिया है। प्रशासन ने पुराने मोबाइल फोन व सिमकार्ड बेचने वाले दुकानदारों के साथ ही होटल, दुकानों पर सीसीटीवी कैमरा लगाने सहित अन्य पाबंदियां लागू की हैं। इसके लिए प्रशासन ने बाकायदा सार्वजनिक आदेश जारी किया है।

आने वाले दिनों में स्थानीय स्वराज के चुनाव होने जा रहे हैं। इसके साथ ही 25 जनवरी को गणतंत्र दिवस पर शहर व जिले में असामाजिक तत्वों द्वारा किसी अपराध की घटना की आशंका जताई जा रही है। इस तरह के इनपुट मिलने क बाद पुलिस हाइ अलर्ट पर है। जिले में आतंकवादी घटना या हादसे को रोकने के लिए भरुच पुलिस सर्तकता बरत रही है।
आतंकवादियों के समुद्री मार्ग से आकर नर्मदा नदी में बने टापुओं सरफुद्दीन बेट, दशान बेट व आलियाबेट में आने की आशंका भी जताई जा रही है। इसे देखते हुए सभी टापुओं पर लोगों के आने-जाने पर पूरी तरह से प्रतिबंध लगा दिया गया है। अधिकृत अधिकारी की अनुमति के बिना कोई भी व्यक्ति इन टापुओं पर नहीं जा सकेगा।

किरायेदारों का पंजीकरण जरुरी

आतंकवादी तत्व निवास व औद्योगिक इलाके में गुप्त आश्रय लेकर सार्वजनिक शांति व सुरक्षा को भंग कर सकते हैं। इस वजह से प्रत्येक मकान, दुकान व कंपनियों के स्वामियों को किरायेदारों का पंजीकरण पुलिस स्टेशन में कराने के लिए सूचित किया गया है। आतंकवादी गतिविधियों के साथ जुड़े तत्व आपराधिक वारदातों को करने के लिए पुराने मोबाइल व सिमकार्ड का इस्तेमाल करते हैं। इसीलिए कलक्टर ने मोबाइल व्यापारियों को ग्राहक का पूरा नाम, पता व उसकी पहचान का प्रमाणपत्र लेकर रजिस्टर में दर्ज करना होगा।

सीसीटीवी लगाने की सूचना

पूर्व में बम धमाका सहित अन्य वारदातों को करने के बाद असामाजिक तत्व प्रदेश से बाहर भागते रहे हैं। इसे देखते हुए होटल व गेस्ट हाउस, पेट्रोल पंप और धार्मिक स्थान के आसपास सीसीटीवी कैमरा लगाने को कहा गया है। प्रशासन ने ट्रांसपोर्टरों को भी चालकों व क्लीनरों की जानकारी प्रशासन को देने के निर्देश दिए हैं।

विनीत शर्मा Reporting
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned