ताप्ती गंगा एक्सप्रेस से पांच जनों को चार सौ कबूतर के साथ पकड़ा

ताप्ती गंगा एक्सप्रेस से पांच जनों को चार सौ कबूतर के साथ पकड़ा

Sanjeev Kumar Singh | Publish: Sep, 04 2018 09:17:12 PM (IST) Surat, Gujarat, India

जुआ खेलने और सट्टा लगाने के लिए कबूतरों का उपयोग

सूरत.

नंदूरबार रेलवे स्टेशन पर सोमवार को ताप्ती गंगा एक्सप्रेस के द्वितीय श्रेणी शयनयान में कबूतर लेकर सफर रहे पांच जनों को रेलवे सुरक्षा बल तथा रेलवे पुलिस ने गिरफ्तार किया है। इनके पास से चार सौ कबूतर नौ पिंजरों में ढूंस-ढूंस कर भरे हुए मिले। पांचों को कबूतरों के साथ वन विभाग को सौंपा गया।

 

नंदूरबार रेलवे सुरक्षा बल के निरीक्षक महेन्द्र सिंह को सोमवार को सूचना मिली थी कि १९०४६ छपरा-सूरत ताप्ती गंगा एक्सप्रेस ट्रेन में कुछ लोग पिंजरों में कबूतर लेकर सफर कर रहे हैं। महेन्द्र सिंह ने रेलवे सुरक्षा बल जवानों की टीम तैयार की और रेलवे पुलिस के साथ संयुक्त रूप से कार्रवाई की। इस दौरान एस-4, एस-6 और एस-7 में पांच व्यक्ति मिले, जिनके पास पिंजरे में कबूतर थे। सभी लोगों को ट्रेन से उतार लिया गया।

 

नंदूरबार रेलवे सुरक्षा बल थाने में पूछताछ के दौरान इन्होंने अपना नाम मोहम्मद फजल अंसारी (60), मोहम्मद इरफान (45), मोहमद सईद कुरैशी (40), मोहमद रफीक अहमद मंसूरी (35), फरकान शेख (25) बताया है। इनके पास से नौ पिंजरों में करीब चार सौ कबूतर मिले। मामले की सूचना देकर वन विभाग के अधिकारियों को भी बुला लिया गया। बाद में सभी आरोपियों व कबूतरों को वन विभाग के हवाले कर दिया गया।

 

वन विभाग के अधिकारियों ने बताया कि शिड्यूल-४ के तहत सभी आरोपियों के खिलाफ मामला दर्ज किया गया है। पुलिस ने इन कबूतरों का जुआ तथा सट्टा खेलने के लिए उपयोग में लिए जाने की जानकारी दी है। इन लोगों के खिलाफ वाइल्ड लाइफ एक्ट के तहत कार्रवाई की जा रही है।

 

 

उठंतरी करने वाली पार्टी के खिलाफ मामला दर्ज, 88.92 लाख रुपए का पैमेंट नहीं चुकाने का आरोप
सूरत. चार महीने पहले मिलेनयिम मार्केट से उठंतरी करने वाली पार्टी के खिलाफ आखिर वीवरों की शिकायत पर सलाबतपुरा पुलिस ने 88.92 लाख रुपए की धोखाधड़ी का मामला दर्ज कर जांच शुरू कर दी है। पुलिस के मुताबिक वराछा त्रिकमनगर के श्रृंगार पैलेस निवासी राजेन्द्र गणपतसिंह राठौड़ और मनमोहन सोसायटी निवासी घनश्याम फकीरचंद खत्री रिंगरोड की मिलेनियम मार्केट में व्यापार करते थे। आरोप है कि उन्होंने 18 अप्रेल से 18 मई, 2018 के बीच सुमुल डेयरी रोड की पुष्पकुंज सोसायटी निवासी वीवर राकेश हसमुखलाल बोघावाला समेत अन्य वीवर से करीब 88.92 लाख रुपए का ग्रे उधार में खरीदा और जब पैमेंट चुकाने की बारी आई तो दुकान बंदकर फरार हो गए।

Ad Block is Banned