scriptFlats in the Prime Minister's Housing Scheme will give to the victims | Surat News; पीडि़त परिवारों को देंगे प्रधानमंत्री आवास योजना में फ्लैट | Patrika News

Surat News; पीडि़त परिवारों को देंगे प्रधानमंत्री आवास योजना में फ्लैट

जिला कलक्टर ने की पीडि़त परिवारों के साथ बैठक
मोटी दमण में अवैध निर्माण तोडऩे का मामला


District Collector held a meeting with the families of the victims
Case of breaking illegal construction in Moti Daman

सूरत

Published: November 15, 2019 10:22:34 pm

दमण. मोटी दमण में अतिक्रमण हटाने के बाद जरूरतमंद पीडि़त परिवारों को प्रधानमंत्री आवास योजना में घर देने के लिए जिला कलक्टर डॉ.राकेश मिन्हास पीडि़त परिवारों से बैठक कर उनको घर देने का प्रयास कर रहे हैं। नगर पालिका द्वारा प्रधानमंत्री आवास योजना में 39 फ्लैट वाली एक बिल्डिंग तैयार की है। इस बिल्डिंग में 17 परिवार को फ्लैट उपलब्ध कराया जा चुका है। 22 फ्लैट अभी भी खाली हैं, वह भी सर्वे में चयनित एवं पीडि़त परिवार को उपलब्ध कराया जा रहा है। पीडि़त परिवारों से जिला कलक्टर डॉ.राकेश मिन्हास ने बातचीत भी की है।
Surat News; पीडि़त परिवारों को देंगे प्रधानमंत्री आवास योजना में फ्लैट
Surat News; पीडि़त परिवारों को देंगे प्रधानमंत्री आवास योजना में फ्लैट
मोटी दमण में जिला प्रशासन ने 1 नवम्बर को मोटी दमण में 97 अवैध निर्माण तोड़े गए थे। इसमें से 39 निर्माण कार्य एनआरआई ने कराए थे, जो यहां रहते नहीं है और किराए पर देकर रखे थे। 13 अवैध निर्माण कार्य ऐसे थे, जिसमें हॉल, कम्पाउंड वॉल और पार्किंग की जगह बनाकर रखी थी। इसमें 8 बंगले भी सरकारी जमीन पर बनाए गए थे। अन्य परिवारों के लिए पहले प्रधानमंत्री आवास योजना के समय सर्वे किया गया था। इसमें लगभग 7 से 8 परिवारों को प्रधानमंत्री आवास योजना में शामिल किया गया था। उनके नाम पर घर भी आवंटित किया गया था, परन्तु वह रहने नहीं गए। इसके साथ सर्वे में पाया गया कि वहां रहने वाले परिवारों के पास टू-व्हीलर,फॉर व्हीलर एवं 3 लाख से ज्यादा की वार्षिक आय थी।
लाइट हाउस से जम्पोर तक 1500 स्क्वायर मीटर जमीन पर था अवैध कब्जा
सरकारी जमीन पर अवैध निर्माण को लेकर जिला प्रशासन ने वर्ष 2017-18 में सर्वे किया था। इसमें 1500 स्क्वायर मीटर की जमीन पर अवैध कब्जा था। दिसम्बर 2018 में 133 अतिक्रमण पाए गए। इसके पश्चात मोटी दमण लाइटहाउस के पास 13 दिसम्बर को 30 अवैध निर्माण तोड़े गए। इसके पश्चात स्वीपर क्वार्टर के निकट 101 अवैध निर्माण को नोटिस दिए गए। इस मामले में वह परिवार मुंबई कोर्ट में गए, जहां से डिप्टी कलक्टर के सामने जनसुनवाई रखी गई। लोकसभा चुनाव के कारण यह मामला धीरे चला और 30 मई से 5 जुलाई तक सुनवाई पूरी की जा चुकी थी। अगस्त में 97 अवैध घरों को तोडऩे के लिए आदेश जारी किया गया था। इसमें से वर्ष 2016 में प्रधानमंत्री आवास योजना में 8 परिवारों को मकान आवंटन किया था और 4 परिवारों ने गृह प्रवेश भी किया था।

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

Trending Stories

Veer Mahan जिसनें WWE में मचा दिया है कोहराम, क्या बनेंगे भारत के तीसरे WWE चैंपियनName Astrology: इन नाम वाले लोगों के जीवन में अचानक से धनवान बनने का होता है योगफटाफट बनवा लीजिए घर, कम हो गए सरिया के दाम, जानिए बिल्डिंग मटेरियल के नए रेटबुध जल्द वृषभ राशि में होंगे मार्गी, इन 4 राशियों के लिए बेहद शुभ समय, बनेगा हर कामबेहद शार्प माइंड होते हैं इन 4 राशियों के लोग, बुध और शनि देव की रहती है इन पर कृपाज्योतिष: रूठे हुए भाग्य का फिर से पाना है साथ तो करें ये 3 आसन से कामराजस्थान में देर रात उत्पात मचा सकता है अंधड़, ओलावृष्टि की भी संभावनाशादी के 3 दिन बाद तक दूल्हा-दुल्हन नहीं जा सकते टॉयलेट! वजह जानकर हैरान हो जाएंगे आप

बड़ी खबरें

जम्मू कश्मीरः बारामूला में जैश-ए-मोहम्मद के तीन पाकिस्तानी आतंकी ढेर, एक पुलिसकर्मी शहीदDelhi News Live Updates: दिल्‍ली में फैक्‍ट्री से 21 बाल मजदूर छुड़ाए गए, आरोपी फैक्ट्री मालिक की 6 फैक्ट्रियां सीलसुप्रीम कोर्ट में पूजा स्थल कानून के खिलाफ दायर की गई याचिका, संवैधानिक वैधता को चुनौतीTexas Shooting: अमरीकी राष्ट्रपति ने टेक्सास फायरिंग की घटना को बताया नरसंहार, बोले- दर्द को एक्शन में बदलने का वक्तजातीय जनगणना सहित कई मुद्दों को लेकर आज भारत बंद, जानिए कहां रहेगा इसका ज्यादा असरपंजाब CM Bhagwant Mann का एक और बड़ा फैसला, सरकारी नौकरियों के लिए पंजाबी भाषा है जरूरीकपिल सिब्बल समाजवादी पार्टी के टिकट से जाएंगे राज्यसभा, बताई कांग्रेस छोड़ने की वजहशिवसेना नेता यशवंत जाधव की बढ़ी मुश्किलें, ED ने जारी किया समन
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.