सडक़ें खोदने के बाद ठीक करना भूल गए

रेंग रहे हैं वाहन, गड्ढों में फंस रहे वाहन

By: Sunil Mishra

Updated: 10 Mar 2019, 07:10 PM IST


सिलवासा. भूमिगत विद्युत और गटर लाइनों से शहर के अधिकांश विस्तारों की सडक़ें टूट गई हैं। सडक़ें तोडऩे के बाद पुन: नहीं बनाई गई हैं। इससे शहरवासी नाराज हैं। सडक़ें खराब होने से वाहन रेंगकर चल रहे हैं। जगह-जगह खोदे गए गड्ढ़ों में कर्ई बार वाहन फंस जाते हैं तथा आवागमन मुश्किल हो गया है। सडक़ें खराब होने से यातायात व्यवस्था चरमरा गई है। सडक़ों के दोनों छोर खुदाई होने से वाहनों के चलने के लिए एक मार्ग रह गया है।
खुदाई के बाद मरम्मत नहीं होने से मुख्य रोड पर वाहनों का जाम लगना आम बात है। भूमिगत विद्युत केबलिंग के कारण मुख्य रोड पिपरिया से शहीद चौक, टोकरखाड़ा होते हुए समारवरणी तक पूरी सडक़ खंडहर हो गई है।

 

patrika

रास्ता चलने लायक नहीं रहा

अथाल दमण गंगा से शहीद चौक, सब्जी मार्केट, आदिवासी भवन, किलवणी नाका, झंडा चौक से आमली तक सडक़ खोदने से रास्ता चलने लायक नहीं रहा। यहां राहगीरों को भारी परेशानी हो रही है। पिपरिया से टोकरखाड़ा तक दो किमी दूरी में वाहनों को 15 से 20 मिनट का समय लग जाता है। आवासीय क्षेत्रों में सडक़ तोडऩे के बाद बिना मिट्टी भरे छोड़ दी हैं। कई जगह सडक़ें मिट्टी और धूल के आगोश में समा गई हैं। लोगों का कहना है कि काम होने के बाद खुदाई वाली सडक़ों की तुरंत मरम्मत होनी चाहिए।

Sunil Mishra
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned