scriptFOSTTA ELECTION: After Raghukul, NTM also showed displeasure, will not | FOSTTA ELECTION: रघुकुल के बाद एनटीएम ने भी दिखाई नाराजगी, नहीं मानेंगे फोस्टा की कोई बात | Patrika News

FOSTTA ELECTION: रघुकुल के बाद एनटीएम ने भी दिखाई नाराजगी, नहीं मानेंगे फोस्टा की कोई बात

-मतदाता सदस्यता आवेदन पत्र के संदर्भ में मार्केट सोसायटी ने पत्र लिखकर फोस्टा से जानने चाहे थे तीन सवालों के जवाब
-दो बार भेजने पर भी पत्र रिसीव नहीं किया, शनिवार को बोर्ड मीटिंग में फोस्टा की अवहेलना का किया फैसला
-उधर, जापान मार्केट के पत्र को भी फोस्टा के पदाधिकारियों ने नहीं स्वीकारा और ना ही दिए कोई जवाब

सूरत

Published: June 20, 2022 10:01:15 am

सूरत. फैडरेशन ऑफ सूरत टेक्सटाइल ट्रेडर्स एसोसिएशन के सदस्य मार्केट एसोसिएशन के सवालों का कोई जवाब नहीं देने और पत्र तक रिसीव नहीं किए जाने के मामले में शनिवार शाम सूरत कपड़ा मंडी के मोटी बेगमवाड़ी क्षेत्र की न्यू टेक्सटाइल मार्केट को-ऑपरेटिव सर्विस सोसायटी ने भी आखिर फोस्टा से नाता तोड़ लिया। ऐसी ही नाराजगी रघुकुल टेक्सटाइल मार्केट को-ऑपरेटिव सोसायटी भी पहले दिखा चुकी है।
सात साल से लंबित फोस्टा चुनाव मामले में पिछले कुछ दिनों से चुनावी हलचल उभरकर सामने आई है, हालांकि फोस्टा की इस चुनावी हलचल के प्रति कई तरह के संदेह के सवाल भी सूरत कपड़ा मंडी के व्यापारियों की ओर से ही खड़े किए जा रहे हैं। ऐसा ही सीधा-सीधा सवाल दो दिन पहले मोटी बेगमवाड़ी कपड़ा बाजार के दूसरे बड़े न्यू टेक्सटाइल मार्केट के एक हजार से ज्यादा कपड़ा व्यापारियों की लोकतांत्रिक तरीके से चुनी हुई को-ऑपरेटिव सर्विस सोसायटी ने जेजे मार्केट स्थित फोस्टा कार्यालय में पत्र भेजकर किया था। सोसायटी ने फोस्टा के मतदाता सदस्यता आवेदन पत्र अभियान के सिलसिले में आए आवेदन पत्र की उलझन को दूर करने के उद्देश्य से तीन सवालों का जवाब फोस्टा के पदाधिकारियों से जानने चाहे थे। इसमें पहला सवाल यह था कि फोस्टा द्वारा भेजे गए घोषणा पत्र व सदस्य फार्म स्वीकार करने की अंतिम तिथि क्या है? दूसरा सवाल फोस्टा द्वारा चुनाव की तारीख बताए जाने के संबंध में था और अंतिम सवाल यह था कि फोस्टा के मेंबरशिप फार्म में प्रतिनिधि के नाम का ट्रेडर्स जीएसटी नम्बर अनिवार्य रूप से लिखने की जानकारी दी थी। इस पर एनटीएम सोसायटी का प्रश्न था कि मार्केट प्रतिनिधि कपड़े का व्यवसाय अपने पारिवारिक सदस्य के नाम से करता है और जीएसटी नम्बर उस सदस्य के नाम से है तो मार्केट के उक्त प्रतिनिधि का नाम स्वीकार होगा अथवा नहीं। इन तीन सवालों के पत्र का जवाब देना तो दूर फोस्टा कार्यालय में उसे स्वीकार भी नहीं किया गया जबकि तीनों ही पदाधिकारी उस दौरान मौजूद बताए गए थे।
FOSTTA ELECTION: रघुकुल के बाद एनटीएम ने भी दिखाई नाराजगी, नहीं मानेंगे फोस्टा की कोई बात
FOSTTA ELECTION: रघुकुल के बाद एनटीएम ने भी दिखाई नाराजगी, नहीं मानेंगे फोस्टा की कोई बात
-फोस्टा चुनाव घोषित करें, नहीं मानेंगे कोई बात

न्यू टेक्सटाइल मार्केट को-ऑपरेटिव सर्विस सोसायटी के सहसचिव व मीडिया प्रभारी हरेश लखानी ने बताया कि शनिवार शाम मार्केट के बोर्डरूम में सोसायटी की बोर्ड मीटिंग बुलाई गई थी। बोर्ड मीटिंग में सोसायटी के पदाधिकारियों व सदस्य व्यापारियों की फोस्टा चुनाव के संदर्भ में खासी नाराजगी रही। इसमें पहले तो एनटीएम सोसायटी की ओर से भेजे गए पत्र को रिसीव नहीं किए जाने के मुद्दे पर कपड़ा व्यापारियों के बीच लम्बी चर्चा चली और बाद में फोस्टा चुनाव पर बातचीत की गई। इसमें बताया गया कि किसी भी समाज, संस्था के चुनाव जब होते हैं तो व्यवस्थित तरीके से चुनावी कार्यक्रम की घोषणा की जाती है, लेकिन फोस्टा में सीधे मतदाता सदस्यता आवेदन पत्र भेजकर नाम मंगवाए जा रहे हैं। ऐसे में सवाल उठने स्वाभाविक है कि सूरत कपड़ा मंडी के पौने दो सौ से ज्यादा टेक्सटाइल मार्केट्स से कब तक आवेदन पत्र फोस्टा कार्यालय में पहुंचेंगे, कौन इनकी और कब तक जांच कर मतदाता सूची तैयार करेंगे। इसके बाद फोस्टा चुनाव के नामांकन पत्र की प्रक्रिया समेत अन्य कई अधूरे सवाल और उन पर लगने वाले समय के बारे में भी बोर्ड मीटिंग में खुलकर सोसायटी सदस्य व्यापारियों ने चर्चा की और आखिर में निर्णय किया गया कि जब तक फोस्टा चुनाव घोषित नहीं कर दिए जाते तब तक उनकी किसी तरह की बात को न्यू टेक्सटाइल मार्केट को-ऑपरेटिव सर्विस सोसायटी द्वारा नहीं माना जाएगा।
-पत्र ही नहीं स्वीकारा, जवाब कहां से मिलते?

फोस्टा के पदाधिकारी के फोस्टा चुनाव संबंधी बयान के प्रति स्पष्टीकरण के उद्देश्य से शनिवार को जापान मार्केट को-ऑपरेटिव सर्विस सोसायटी ने शनिवार को फोस्टा कार्यालय में पत्र भेजा, लेकिन उसे भी स्वीकार नहीं किए जाने की जानकारी दी है। इस संबंध में सोसायटी अध्यक्ष ललित शर्मा ने बताया कि फोस्टा के महामंत्री चंपालाल बोथरा के फोस्टा चुनाव प्रक्रिया संबंधी बयान पर स्पष्टीकरण के उद्देश्य से फोस्टा कार्यालय में पत्र भेजा था और जानना चाहा था कि मतदाता सदस्यता आवेदन पत्र में मतदाता व्यापारियों के लिए दर्ज नियम का निर्णय बोर्ड ऑफ डायरेक्टर्स की मंजूरी से लिया गया था अथवा इसे साधारण सभा में पास करवाया गया था। जापान मार्केट को-ऑपरेटिव सर्विस सोसायटी फोस्टा की 2010 से सदस्य है और सोसायटी ने फोस्टा चुनाव की घोषणा तक कोई निर्देश नहीं मानने का निर्णय किया है, लेकिन चुनावी प्रक्रिया का कभी विरोध नहीं किया। मार्केट सोसायटी का पत्र तक स्वीकार नहीं किए जाने के मामले में स्पष्ट है कि फोस्टा पदाधिकारियों ने एकतरफा रुख अपना रखा है जो कि व्यापारिक संगठन के लिए कतई उचित नहीं है।

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

Trending Stories

मौसम अलर्ट: जल्द दस्तक देगा मानसून, राजस्थान के 7 जिलों में होगी बारिशइन 4 राशियों के लोग होते हैं सबसे ज्यादा बुद्धिमान, देखें क्या आपकी राशि भी है इसमें शामिलस्कूलों में तीन दिन की छुट्टी, जानिये क्यों बंद रहेंगे स्कूल, जारी हो गया आदेश1 जुलाई से बदल जाएगा इंदौरी खान-पान का तरीका, जानिये क्यों हो रहा है ये बड़ा बदलावNumerology: इस मूलांक वालों के पास धन की नहीं होती कमी, स्वभाव से होते हैं थोड़े घमंडीबुध जल्द अपनी स्वराशि मिथुन में करेंगे प्रवेश, जानें किन राशि वालों का होगा भाग्योदयमोदी सरकार ने एलपीजी गैस सिलेण्डर पर दिया चुपके से तगड़ा झटकाजयपुर में रात 8 बजते ही घर में आ जाते है 40-50 सांप, कमरे में दुबक जाता है परिवार

बड़ी खबरें

Ranji Trophy Final: मध्य प्रदेश ने रचा इतिहास, 41 बार की चैम्पियन मुंबई को 6 विकेट से हरा जीता पहला खिताबBypoll results 2022 LIVE: UP की आजमगढ़ सीट से निरहुआ की हुई जीत, दिल्ली में मिली जीत पर केजरीवाल गदगदMaharashtra Political Crisis: केंद्र ने शिवसेना के बागी 15 विधायकों को दी Y प्लस कैटेगरी की सुरक्षा, शिंदे गुट ने डिप्टी स्पीकर के खिलाफ लिया ये फैसलाMaharashtra Political Crisis: एकनाथ शिंदे गुट के लिए शिवसेना पर दावा पेश करना आसान नहीं! यहां जानें EC का नियमसिद्धू मूसेवाला की हत्या के बाद, फिर से सामने आया कनाडाई (पंजाबी) गिरोहIAS के बेटे की मौत या मर्डर? छापेमारी में मिला 12 किलो सोना, 3 KG चांदी, जानिए क्या है पूरा मामलाAzamgarh Rampur By Election Result : रामपुर और आजमगढ़ में भाजपा और सपा के बीच कड़ा मुकाबलाNDA की राष्ट्रपति उम्मीदवार द्रौपदी मुर्मू के गांव में नहीं है बिजली , शुरू हुआ खंभे, ट्रांसफार्मर लगाने का काम
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.