scriptFour months imprisonment to the accused school bus driver in Surat acc | Surat/ दुर्घटना के मामले में आरोपित स्कूल बस चालक को चार महीने की कैद | Patrika News

Surat/ दुर्घटना के मामले में आरोपित स्कूल बस चालक को चार महीने की कैद

बस रिसर्व लेते हुए छात्रा हुई थी घायल

सूरत

Published: April 14, 2022 02:56:58 pm

सूरत. गवियर गांव स्थित डीपीएस स्कूल के कम्पाउंड में बस की टक्कर लगने से घायल हुई छात्रा के मामले में आरोपित बस चालक को कोर्ट ने दोषी मानते हुए चार महीने की कैद और पांच सौ रुपए के अर्थदंड की सजा सुनाई।
Surat/ दुर्घटना के मामले में आरोपित स्कूल बस चालक को चार महीने की कैद
File Image

प्रकरण के अनुसार आभवा गांव निवासी कपिल मोहन पटेल डीपीएस स्कूल की स्कूल बस पर ड्राइवर था। 1 दिसम्बर, 2010 को कपिल बस रिवर्स ले रहा था, तभी 15 वर्षीय छात्रा को उसने टक्कर मार दी थी। हादसे में छात्रा गंभीर रूप से घायल हो गई थी। घटना को लेकर पुलिस ने चालक के कपिल के खिलाफ मामला दर्ज कर कोर्ट में आइपीसी की धारा 279, 337 और एम.वी.एक्ट की धारा 177,184 और 134 के तहत चार्जशीट पेश की थी। सुनवाई के दौरान लोकाभियोजक मनिष वी.राणपरा आरोपों को साबित करने में सफल रहे। अंतिम सुनवाई के बाद कोर्ट ने आरोपी कपिल पटेल को दोषी मानते हुए चार महीने की कैद और पांच सौ रुपए अर्थदंड की सजा सुनाई।
बच्चों को पिता से मिलने नहीं देने वाली पत्नी को कोर्ट की फटकार, महीने में दो बार मिलने देने का आदेश

सूरत। पति का त्याग कर पीहर में रहते हुए बच्चों को पिता से मिलने नहीं देने वाली पत्नी को कोर्ट ने फटकार लगाई है। कोर्ट ने पति की अंतरिम याचिका मंजूर करते हुए महीने में दो बार बच्चों को पिता से मिलने देने का आदेश दिया।
सूरत निवासी रूपा जैन ( बदला हुआ नाम) की शादी अहमदाबाद निवासी जयेश जैन ( बदला हुआ नाम ) के साथ हुई थी। उन्हें एक पुत्र और पुत्री है। इसके बाद रूपा बच्चों को लेकर पीहर चली आई और पति - पत्नी के बीच तलाक हो गया। तलाक के कुछ समय बाद फिर से दोनों एक साथ रहने लगे। इसके बाद वर्ष 2019 में रूपा फिर से पति का त्याग कर बच्चों के साथ पीहर आ गई और बच्चों को भी पिता से मिलने नहीं दे रही थी। पति जयेश ने अधिवक्ता प्रीति जोशी के जरिए कोर्ट में याचिका दायर कर बच्चों का कब्जा उसे सौंपने के लिए गुहार लगाई है, लेकिन मूल याचिका पर सुनवाई लंबे अरसे तक चल सकती है यह देखते हुए पति ने अंतरिम याचिका दायर कर बच्चों को मिलने देने का आदेश करने की मांग की थी। अंतिम सुनवाई के बाद कोर्ट ने अधिवक्ता प्रीति जोशी की दलीलों को ध्यान में रखते हुए याचिका मंजूर कर ली और पत्नी को फटकार लगाते हुए महीने में दो बार बच्चों को पिता से मिलने देने का पत्नी को आदेश दिया।

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

Trending Stories

बुध जल्द वृषभ राशि में होंगे मार्गी, इन 4 राशियों के लिए बेहद शुभ समय, बनेगा हर कामज्योतिष: रूठे हुए भाग्य का फिर से पाना है साथ तो करें ये 3 आसन से कामजून का महीना किन 4 राशियों की चमकाएगा किस्मत और धन-धान्य के खोलेगा मार्ग, जानेंमान्यता- इस एक मंत्र के हर अक्षर में छुपा है ऐश्वर्य, समृद्धि और निरोगी काया प्राप्ति का राजराजस्थान में देर रात उत्पात मचा सकता है अंधड़, ओलावृष्टि की भी संभावनाVeer Mahan जिसनें WWE में मचा दिया है कोहराम, क्या बनेंगे भारत के तीसरे WWE चैंपियनफटाफट बनवा लीजिए घर, कम हो गए सरिया के दाम, जानिए बिल्डिंग मटेरियल के नए रेटशादी के 3 दिन बाद तक दूल्हा-दुल्हन नहीं जा सकते टॉयलेट! वजह जानकर हैरान हो जाएंगे आप

बड़ी खबरें

'तमिल को भी हिंदी की तरह मिले समान अधिकार', CM स्टालिन की अपील के बाद PM मोदी ने दिया जवाबहिन्दी VS साऊथ की डिबेट पर कमल हासन ने रखी अपनी राय, कहा - 'हम अलग भाषा बोलते हैं लेकिन एक हैं'Asia Cup में भारत ने इंडोनेशिया को 16-0 से रौंदा, पाकिस्तान का सपना चूर-चूर करते हुए दिया डबल झटकाअजमेर की ख्वाजा साहब की दरगाह में हिन्दू प्रतीक चिन्ह होने का दावा, पुलिस जाप्ता तैनातबोरवेल में गिरा 12 साल का बालक : माधाराम के देशी जुगाड़ से मिली सफलता, प्रशासन ने थपथपाई पीठममता बनर्जी का बड़ा फैसला, अब राज्यपाल की जगह सीएम होंगी विश्वविद्यालयों की चांसलरयासीन मलिक के समर्थन में खालिस्तानी आतंकी ने अमरनाथ यात्रा को रोकने की दी धमकीलगातार दूसरी बार हैदराबाद पहुंचे PM मोदी से नहीं मिले तेलंगाना CM केसीआर
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.