वलसाड जिले में कोरोना से चौथी मौत

कोरोना मरीज मिलने के बाद विभिन्न विस्तार कंटेनमेन्ट जोन घोषित


After expansion of corona patient, various extension container zones declared

By: Sunil Mishra

Published: 14 Jun 2020, 10:20 PM IST

वापी. वलसाड जिले में कोरोना के मिल रहे मरीजों के कारण अलग अलग विस्तारों में कंटेनमेन्ट जोन घोषित किया गया है। इसके साथ ही रविवार को वापी के चणोद गांव निवासी एक व्यक्ति की कोरोना से मौत हो गई। अब तक वलसाड जिले में कोरोना संक्रमित चौथे व्यक्ति की मौत से लोगों में भय का वातावरण बन रहा है।
जानकारी के अनुसार चणोद गांव के श्रीनाथजी पार्क सोसायटी निवासी 65 वर्षीय व्यक्ति को कोरोना पॉजिटिव आने पर जनसेवा में भर्ती करवाया गया था। डायबिटीज से पीडि़त इस शख्स की हालत बिगडने के बाद सिविल अस्पताल रेफर किया गया था। जहां रविवार को उसकी मौत हो गई।

https://www.patrika.com/surat-news/valsad-district-51-corona-patients-6192835/

AIADMK MLA Palani tests positive for coronavirus

एपी सेन्टर और कंटेनमेन्ट जोन घोषित
दूसरी तरफ वापी के मोराइ, कुंता और चणोद गांव और डुंगरा कॉलोनी में कोरोना पॉजिटिव मरीज मिलने पर प्रशासन ने एपी सेन्टर और कंटेनमेन्ट जोन निर्धारित कर 10 जुलाई तक कई प्रवृत्तियों पर रोक लगा दी है। इसके तहत डुंगरा में सिलवासा रोड स्थित लेविस गार्डन डी विंग को एपी सेन्टर तथा डी विंग के सभी विस्तार को कंटेनमेन्ट क्षेत्र घोषित कर चारों तरफ से सील कर दिया गया है। किसी को भी अंदर बाहर आने जाने पर रोक लगा दी गई। आवश्यक सामान की आपूॢत नगर पालिका करेगी। कुंता में वेल्सपन इंडिया ली वर्कर कॉलोनी के ब्लॉक नंबर एस एन्ड टी को एपी सेन्टर तथा उसके पास पूरे क्षेत्र को कंटेनमेन्ट जोन घोषित कर सील किया गया है।

पूरे क्षेत्र को सील करने पर नाराजगी
मोराइ में हाइवे के पास हॉनेस्ट कॉम्प्लेक्स में मरीज मिलने पर एपी सेन्टर तथा उसके आसपास के विस्तार को कंटेनमेन्ट एरिया घोषित कर चारों तरफ से सील कर दिया गया है। यहां पर जरूरी सामान की आपूर्ति मोराइ पंचायत को दी गई है। लेकिन हॉनेस्ट कॉम्प्लेक्स के आसपास के पूरे एरिया को सील करने पर स्थानीय लोगों ने नाराजगी जताई है। लोगो के अनुसार इस विस्तार में करीब छह सौ से ज्यादा लोग रहते हैं। हाइवे से सटे होने के कारण कई ट्रांसपोर्ट कार्यालय हैं। ट्रांसपोर्ट आफिसे ही माल वाहक वाहन के चालकों का ठिकाना रहती हैं। लेकिन पूरे क्षेत्र को सील करने से लोगों के लिए दिक्कत खड़ी हो गई है। लोग अपने काम धंधे और नौकरी पर नहीं जा पाएंगे। लोगों ने कहा कि जिस बिल्डिंग से मरीज मिला है वह और उससे सटे दो तीन को सील करना उचित है। एक तरफ पहले से लोग आर्थिक संकट मे हैं। अब पूरा क्षेत्र सील होने से नौकरी पर भी नहीं जा पाएंगे और काम धंधा भी बंद हो जाएगा। जिससे उनके सामने समस्या गंभीर है। कहा गया है कि इस संबंध में अपनी बात रखने के लिए कुछ लोग सोमवार को कलक्टर से भी मिलेंगे।

Sunil Mishra
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned