18 साल से यहां से सैकड़ों लोगों तक पहुंचा रहे नि:शुल्क खाना

18 साल से यहां से सैकड़ों लोगों तक पहुंचा रहे नि:शुल्क खाना

Mukesh Sharma | Publish: May, 17 2018 10:16:35 PM (IST) Surat, Gujarat, India

आज जहां परिवार का पेट भरना लोगों के लिए मुश्किल साबित होता है, तब शहर की एक संस्था ऐसी भी है जो 18 सालों से रोजाना सैकड़ों ...

वलसाड।आज जहां परिवार का पेट भरना लोगों के लिए मुश्किल साबित होता है, तब शहर की एक संस्था ऐसी भी है जो 18 सालों से रोजाना सैकड़ों लोगों की भूख मिटा रही है। यह सेवा कार्य वलसाड के भीड़ भंजन मंदिर से जारी है। शुरू में कुछ ही लोगों तक भोजन पहुंचाया जाता था, लेकिन समय के साथ यह आंकड़ा बढ़ता गया और आज रोजाना 700 से अधिक लोगों को नि:शुल्क भोजन करवाया जा रहा है।

वलसाड के भीड़ भंजन मंदिर के शिवजी महाराज ने जिले के गरीब और बीमार लोगों तक खाना पहुंचाने के उद्देश्य के साथ 1 मई, 2000 को इस सेवाकार्य का आरंभ किया। मंदिर से रोजाना शहर की अस्पतालों में भर्ती मरीजों के लिए नि:शुल्क टिफिन सेवा शुरू की गई। तब रोजाना 100 टिफिन पहुंचाए जाते थे, अब यह आंकड़ा 700 से अधिक टिफिन में तब्दील हो चुका है। रोजाना मंदिर से शहर के कस्तूरबा आंखों के अस्पताल में और बेसहारा लोगों को टिफिन पहुंचाने का कार्य किया जा रहा है।

दाताओं से मिलता है दान

शिवजी महाराज ने बताया कि जब उन्होंने नि:शुल्क टिफिन सेवा की शुरुआत की तब शुरू में उन्हें काफी मुश्किलों का सामना करना पड़ा, लेकिन जैसे-जैसे उनके सेवा कार्य की खुशबू फैलने लगी दाताओं का तांता लगने लगा। अब रोजाना कई दाता अनाज दान कर के जाते हंै। इससे भोजन बनाकर लोगों तक पहुंचाया जाता है।

बिलीमोरा पालिका के सीओ को बुलानी पड़ी पुलिस

बिलीमोरा नगर पालिका की सामान्य सभा सोमवार को आयोजित की गई थी। सभा में आक्रोशित विपक्ष पार्षदों के हंगामा के बाद सीओ को पुलिस बुलानी पड़ी। प्राप्त जानकारी के अनुसार सभा में नगर पालिका अधिनियम 51/3 के तहत की गई दरखास्त को एजेंडा में नहीं लेने, शौचालय और जीयूडीसी द्वारा सीवरेज कार्य में कोताही को लेकर उग्र चर्चा हुई। सभा में सदन पटल पर रखे गए 80 प्रस्तावों को चर्चा के बाद मंजूरी दी गई। इस दौरान ज्यादातर कार्यों का विपक्ष की ओर से विरोध कर वाक आउट किया। पालिका अध्यक्ष मनीष नायक की अध्यक्षता में बैठक शुरू से ही हंगामेदार रही। सामान्य सभा में सीओ 50 मिनट की देरी से पहुंचे।

पालिका के पूर्व अध्यक्ष व विपक्षी पार्षद अशोक पटेल ने उनकी दरखास्त को एजेंडे में शामिल नहीं करने का मुद्दा उठाते हुए हंगामा किया। पालिका अध्यक्ष ने कहा कि उसमें किसी कार्य की स्पष्टता न होने से उसे शामिल नहीं किया गया था। इससे असंतुष्ट अशोक पटेल आक्रोशित होकर अध्यक्ष के पास पहुंच गए, जहां दोनों के बीच जमकर तू-तू मैं-मैं हुई। अन्य पार्षदों ने अशोक पटेल को पकडक़र वहां से हटाया। इसके बाद शौचालय की बकाया राशि भुगतान नहीं करने के मुद्दे पर अशोक पटेल और अश्विन पटेल के बीच विवाद हो गया, जिससे एक बार फिर हालात तनावपूर्ण हो गया। इस तरह के तंग वातावरण को देखते हुए पालिका के मुख्य अधिकारी जया मेहता ने पुलिस बुला ली।

पुलिस के पहुंचने तक माहौल शांत हो चुका था। सभा में भूमिगत सीवरेज लाइन, बिलीमोरा स्टेशन पर फुट ब्रिज के कारण ट्रैफिक समस्या व दुकानदारों द्वारा अतिक्रमण का मुद्दा भी उठाया गया। अध्यक्ष ने इन समस्याओं को हल करने का आश्वासन दिया। विपक्षी पार्षदों ने ठेकेदारों की समयावधि बढ़ाने व नए काम देने पर विरोध जताया।

Ad Block is Banned