scriptFree treatment for 48 hours to road accident injured patient | सडक़ दुर्घटना के घायल मरीज को 48 घंटे तक नि:शुल्क इलाज | Patrika News

सडक़ दुर्घटना के घायल मरीज को 48 घंटे तक नि:शुल्क इलाज

- न्यू सिविल अस्पताल में योजना पर होगा अमल...

- प्राथमिक इलाज, सिटी स्कैन, एमआरआई और लैब टेस्ट समेत सभी जांच फ्री

सूरत

Published: November 26, 2021 10:26:46 pm

सूरत.

सडक़ दुर्घटना में घायल होने वाले व्यक्तियों का मृत्युदर घटाने के लिए राज्य सरकार ने दुर्घटना होने से 48 घंटे तक नि:शुल्क इलाज के लिए 'सडक़ दुर्घटना सहायता योजना' शुरू की है। यह योजना निजी अस्पतालों में शुरू होने के बाद अब न्यू सिविल अस्पताल में लागू की गई है। इस संदर्भ में अस्पताल प्रशासन ने एक परिपत्र जारी कर सभी को सूचना दी है। आरटीए के सभी मामलों में 48 घंटे तक मरीज को सिटी स्कैन, एमआरआई समेत सभी इलाज मुफ्त मिल सकेगा।
सडक़ दुर्घटना के घायल मरीज को 48 घंटे तक नि:शुल्क इलाज
सडक़ दुर्घटना के घायल मरीज को 48 घंटे तक नि:शुल्क इलाज
जानकारी के मुताबिक, सडक़ दुर्घटना में घायल होने वाले गंभीर मरीजों को जल्दी इलाज देकर जान बचाने और मृत्युदर घटाने के लिए सरकार ने सडक़ दुर्घटना सहायता योजना शुरू की है। इस योजना के अंतर्गत निजी अस्पतालों में दुर्घटना में घायल मरीजों को पहले 48 घंटे में 50 हजार रु. तक इलाज नि:शुल्क देने की व्यवस्था की है। इसके लिए अस्पताल के अधिकारी को क्लेम फॉर्म, संमत्ति पत्र, अस्पताल के केस पेपर, एमएलसी रजिस्टर कॉपी, चोट की जानकारी तथा पुलिस को सूचना समेत जरूरी जानकारी देनी होती है। निजी अस्पतालों में सडक़ दुर्घटना में घायल होकर आने वाले मरीजों के लिए यह योजना लागू हो चुकी है, लेकिन न्यू सिविल और स्मीमेर अस्पताल में सडक़ दुर्घटना में घायल मरीजों के लिए केस पेपर निकालने से लेकर सीटी स्कैन, एमआरआई, लैब टेस्ट समेत अन्य जांच के लिए रुपए लेने की शिकायत सामने आई थी।
वहीं, दुर्घटना में घायल अज्ञात व्यक्ति के मामले में सरकारी अस्पतालों में किसी तरह का चार्ज नहीं लिया जाता है। दूसरी तरफ, सडक़ दुर्घटना के मरीजों से चार्ज वसूलने से लोगों में असमंजस की स्थिति हो रही थी। अब सिविल और स्मीमेर अस्पताल में सडक़ दुर्घटना योजना का अमल शुरू कर दिया है। न्यू सिविल अस्पताल के अधीक्षक डॉ. गणेश गोवेकर ने बताया कि सडक़ दुर्घटना योजना सिविल में लागू कर दी गई है। इस संदर्भ में विभिन्न विभागों और ट्रॉमा सेंटर के डॉक्टरों को परिपत्र से सूचना दी गई है। इस योजना में डाटा एन्ट्री, फोटो समेत फाइल तैयार करने के लिए अलग स्टाफ की नियुक्ति भी की गई है।

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

Trending Stories

ससुराल में इस अक्षर के नाम की लडकियां बरसाती हैं खूब धन-दौलत, किस्मत की धनी इन्हें मिलते हैं सारे सुखGod Power- इन तारीखों में जन्मे लोग पहचानें अपनी छिपी हुई ताकत“बेड पर भी ज्यादा टाइम लगाते हैं” दीपिका पादुकोण ने खोला रणवीर सिंह का बेडरूम सीक्रेटइन 4 राशियों की लड़कियां जिस घर में करती हैं शादी वहां धन-धान्य की नहीं रहती कमीकरोड़पति बनना है तो यहां करे रोजाना 10 रुपये का निवेशSharp Brain- दिमाग से बहुत तेज होते हैं इन राशियों की लड़कियां और लड़के, जीवन भर रहता है इस चीज का प्रभावमौसम विभाग का बड़ा अलर्ट जारी, शीतलहर छुड़ाएगी कंपकंपी, पारा सामान्य से 5 डिग्री नीचेइन 4 नाम वाले लोगों को लाइफ में एक बार ही होता है सच्चा प्यार, अपने पार्टनर के दिल पर करते हैं राज

बड़ी खबरें

India-Central Asia Summit: सुरक्षा और स्थिरता के लिए सहयोग जरूरी, भारत-मध्य एशिया समिट में बोले पीएम मोदीAir India : 69 साल बाद फिर TATA के हाथ में एयर इंडिया की कमानयूपी चुनाव से रीवा का बम टाइमर कनेक्शननागालैंड में AFSPA कानून को खत्म करने पर विचार कर रही केंद्र सरकारजिनके नाम से ही कांपते थे आतंकी, जानिए कौन थे शहीद बाबू राम जिन्हें मिला अशोक चक्रस्वास्थ्य मंत्रालय ने कहा- अभी कोरोना का खतरा बरकरार, 11 राज्यों में 50 हजार से ज्यादा एक्टिव केस, संक्रमण दर 17.75 फीसदीUP Police Recruitment 2022 : यूपी पुलिस में हाईस्कूल पास युवाओं के लिए निकली बंपर भर्तियां, जानें पूरी डिटेलहिजाब के बिना नहीं रह सकते तो ऑनलाइन कक्षा का विकल्प खुला : भट्ट
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.