पांच मिनट में पूरी हो गई सामान्य सभा

बारडोली नगरपालिका में विपक्ष को सुने बगैर पास हुए प्रस्ताव

By: विनीत शर्मा

Published: 02 Jun 2020, 06:26 PM IST

बारडोली. बारडोली नगरपालिका में असंतुष्ट गुट भाजपा संगठन पर हावी रहा। सामान्य सभा प्रमुख की गैरहाजिरी में असंतुष्ट गुट ने सामान्य सभा आयोजित की और एजेंडे के सभी कामों को चर्चा के बगैर ही पारित कर लिया गया। उपप्रमुख मीना दवे की अध्यक्षता में मंगलवार को आयोजित सामान्य सभा औपचारिक ही रही। विपक्ष के हंगामे के बीच सामान्य सभा को संपन्न करा लिया गया।

बारडोली नगरपालिका में सत्ता पक्ष में ही दो गुट हो गए हैं। भाजपा के 12 पार्षद नाराज चल रहे हैं। पिछले चार-पांच दिनों से वे भ्रष्टाचार और प्रमुख गणेश चौधरी के कथित प्रेमप्रकरण को लेकर विरोध जताने के साथ ही प्रमुख के इस्तीफे की मांग कर रहे हैं। इस मामले को लेकर हाइकमान ने उन्हें रविवार तक का समय दिया था, लेकिन रविवार को भी फैसला नहीं होने पर उपप्रमुख मीना दवे समेत सभी पार्षदों ने इस्तीफा दे दिया था। संगठन के दखल के बाद मामला शांत हुआ। विरोधी गुट ने सामान्य सभा से प्रमुख की गैरहाजिरी की मांग की थी, जिसे मान लिया गया था।
मंगलवार को हुई सामान्य सभा में प्रमुख गणेश चौधरी की अनुपस्थिति में उपप्रमुख मीना दवे ने अध्यक्षता की। कार्रवाई शुरू होते ही मीना दवे ने बगैर चर्चा कराए प्रस्तावों को मंजूरी दे दी। विपक्ष के सवालों को अनसुना करते हुए सामान्य सभा की कार्रवाई पांच मिनट में संपन्न कर ली गई।

पहले से तैनात रही पुलिस

बारडोली नगरपालिका की सामान्य सभा में असंतुष्टों की नाराजगी के बाद हंगामे की आशंका को देखते हुए मुख्य अधिकारी ने पहले ही पुलिस बंदोबस्त मांग लिया था। सामान्य सभा शुरू होते ही पालिका परिसर में पुलिस बल तैनात कर दिया गया। सामान्य सभा की कार्रवाई पांच मिनट में ही संपन्न हो जाने से पुलिस प्रशासन ने भी राहत की सांस ली।

कार्यकर्ता करेंगे घोटालों की जांच

सामान्य सभा के बाद पत्रकारों से बातचीत के दौरान मीना दवे ने कहा कि भ्रष्टाचार के आरोपों की जांच पार्टी के कार्यकर्ता कर रहे हैं। इसके समर्थन में उन्होंने नगरपालिका में हुए भ्रष्टाचार को पार्टी की जांच का विषय बताया।

नहीं सुनी बात

नेता प्रतिपक्ष कल्पना पटेल ने कहा कि सामान्य सभा की कार्रवाई औपचारिक ही रही। हमारी बात नहीं सुनी गई और न सवालों के जवाब ही दिए। उन्होंने कहा कि यह लोकतंत्र का हनन है। नगरपालिका में चल रहे कथित भ्रष्टाचार के विरोध में राजेश वाघ और जगदीश भरवाड के नेतृत्व में उनके समर्थकों ने पालिका प्रवेशद्वार पर मौन विरोध जताया।

विनीत शर्मा Reporting
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned